सिटी स्टार: ORGANIC GARHWAL के जरिये अपने गांव से पलायन रोक रहे विवेक

  • Hasnain
  • Tuesday | 23rd January, 2018
  • local
संक्षेप:

  • दिल्ली में नौकरी छोड़कर गांव लौटे विवेक
  • ORGANIC GARHWAL नाम से बनाया एक प्लेटफार्म
  • गांव वालों को दे रहे हैं बिक्री का 70%

 

देहरादून: आज का युवा जहां गांव को छोड़ रोजगार के लिए शहर की ओर भाग रहा है वहीं एक ऐसा भी नौजवान है जो अपने गांव को पलायन से बचाने के लिए दिन रात एक कर रहा है। जिसका नाम विवेक भंडारी है।

देहरादून के गढ़ी श्यामपुर के रहने वाले विवेक भंडारी गुरु राम राय कॉलेज से इंटर पास करने के बाद दिल्ली से सीएस किया और फिर वहीं जॉब करने लगे। लेकिन विवेक तीन साल नौकरी करने के बाद वापस अपने गांव लौटे और गांव के लोगों के लिए कुछ करने की ठानी।

NYOOOZ से बातचीत में विवेक ने बताया कि जब भी वो अपने गांव जाते थे तो वहां जाकर अक्सर उदास हो जाते थे क्योंकि उनको अपना हरा भरा गांव खाली लगने लगा था। साथ ही गांव से लोग पलायन करने लगे थे।

गांव से हो रहे इसी पलायन को रोकने के लिए विवेक ने एक NGO खोला और गांव के लोगों को अपने NGO से जोड़कर विदेशी फसल चिया लगाया, जिसकी कीमत भारत में बहुत ज्यादा है। साथ ही साथ उन्होंने गांव की पारंपरिक फसलों को भी लगाया।

उसके बाद उन्होंने गांव में ही एक लघु उघोग लगाया जहां काफी लोगों को रोजगार मिला। इसके साथ ही उन्होंने एक ब्रांड बनाया, जिसका नाम रखा ORGANIC GARHWAL। इसमें उन्होंने उस गांव के लोगों द्वारा लगाए जाने वाली फसलें जैसे दाल, हल्दी, मसाले और चाय को इस ब्रांड में पैक करके मार्केट में उतारा।

विवेक ने बताया कि इसके जरिये बिकने वाले सामानों का 70% पैसा गांव वालों को दे रहे हैं। उन्होने गांव के लिए एक ऐसा प्लेटफार्म तैयार किया, जिससे वो लोग आसानी से बाजार में इन चीजों को बेच पा रहे हैं। विवेक ने NYOOOZ से कहा कि ऐसा करने से काफी लोगों को रोजगार मिल पाया है और पलायन में रोकथाम लगी है और उनका प्रयास इसे और आगे बढ़ाने पर रहेगा।

Related Articles