सिटी स्टार: भरतनाट्यम में गोरखपुर की अरुंधति त्रिपाठी ने कई राज्यओं में जीते अवार्ड

  • Aditi
  • Saturday | 20th January, 2018
  • local
संक्षेप:

  • अरुंधति ने 3 साल की उम्र में अपनाया था भरतनाट्यम
  • 5 साल की उम्र किया था स्कुल प्रदर्शन, तबसे मिली कामयाबी
  • भरतनाट्यम को बढ़ावा देने के लिए खोला  एक इंस्टिट्यू 

 

गोरखपुर- भरतनाट्यम में मुकाम हासिल कर चुकी अरुंधति विश्वनाथ त्रिपाठी ने देश के कई राज्यओं में अपनी कला का प्रदर्शन कर तमाम अवार्ड अपने नाम किया है। इनकी ये कामयाबी ने इन्होंने गोरखपुर का भी नाम रोशन किया है। मूल रूप से आसनसोल पश्चिमी बंगाल की रहने वाली अरुंधति की शादी गोरखपुर में विश्वनाथ त्रिपाठी से हुई है और अब गोरखपुर में ही भरतनाट्यम के प्रचार प्रसार में लगी है।

अरुंधति ने 3 साल की उम्र में ही भरतनाट्यम की तरफ अपना रुख किया था। 5 साल की उम्र में एक स्कुल में अपनी कला का पहली बार प्रदर्शन किया और वहां से मिली कामयाबी ने आज उन्हें शिखर पर पंहुचा दिया। अरुंधति गुजरात सरकार से कल के कलाकार का अवार्ड, दिल्ली से नेशनल स्कालरशिप, उड़ीसा में नृत्य भूषण, स्वणिम गुजरात तथा हाल में गोरखपुर महोत्सव के मुख्य मंच पर अपनी नाट्य कला के प्रदर्शन से दर्शकों को मग्नमुग्ध कर दिया था। भरतनाट्यम में सीबी चंद्रशेखर को अपना आदर्श मानने वाली अरुंधति का कहना है कि आज के भौतिक युग में बच्चों को शिक्षा के साथ संस्कार, संगीत कला, क्लासिक व फोक का भी ज्ञान होना चाहिए। जिससे बच्चे देश का नाम रोशन कर सके।

गोरखपुर में भरतनाट्यम को बढ़ावा देने के लिए अरुंधति ने एक इंस्टिट्यू खोल रखा है। जिसके माध्यम से वे स्थानीय कलाकारों को इस विधा की जानकारी दे रही है। अरुंधति का यह प्रयास और उनकी प्रतिभा ने उन्हें सिटी स्टार बना दिया है। अरुंधति का कहना है कि अगर बच्चो के अंदर बचपन से ही संगीत, नाट्यकला का भाव विकसित किया जाय तो वे मंच पर प्रतिभाग कर अपना तथा अपने परिवार और देश का नाम रोशन कर सके।

 

Related Articles