सिटी स्टार: गरीबी के कारण नहीं पढ़ पाए अमित, अब बच्चों की शिक्षा के लिए ऐसे कर रहे काम

  • Hasnain
  • Saturday | 3rd March, 2018
  • local
संक्षेप:

  • पिछले एक वर्ष से गरीब बच्चों की शिक्षा के लिए कार्य कर रहे हैं अमित
  • स्कूलों की व्यवस्था में सुधार के लिए भी करते हैं काम
  • NYOOOZ ने की अमित से खास बातचीत

हरिद्वार: हरिद्वार के रहने वाले अमित पिछले 1 वर्ष से सर्व सेवा के सदस्य है। अमित ने NYOOOZ से बातचीत में बताया कि वह पिछले 1 वर्ष से गरीब बच्चों के लिए कार्य कर रहे हैं।

अमित ने कहा "मैं उन गरीब बच्चों के लिए कार्य करता हूं जो स्कूल जाने में असमर्थ होते हैं और साथ ही मैं उन स्कूलों की व्यवस्था  सुधार में भी सहयोग करता हूं, जहां गरीब बच्चें पढ़ते हैं। अमित का कहना है कि हरिद्वार में बहुत से स्कूल ऐसे खुले हैं जो गरीब बच्चों को निःशुल्क शिक्षा देते हैं तो मैं उन्हीं स्कूलों की व्यवस्था में सुधार के लिए कार्य करता हूँ। आइए जानते है NYOOOZ से बातचीत में अमित ने क्या कुछ कहा?

NYOOOZ: अपने बारे में बताइए?

अमित: मेरा नाम अमित है और मैं हरिद्वार का रहने वाला हूं। मैं बताना चाहता हू कि एक गरीब परिवार से होने के कारण मैं शिक्षा ग्रहण नहीं कर पाया और पांचवी तक पढ़ने के बाद मैं होटल में काम करने लगा। हमेशा सोचता था कि मैं घर की खराब स्थिति और गरीबी के कारण शिक्षा नहीं ले पाया हूं लेकिन भविष्य में ऐसे बच्चों की शिक्षा के लिए कार्य करूंगा जो गरीबी के कारण पढ़ नहीं पाते हैं। मैं NYOOOZ के माध्यम से बताना चाहूंगा कि पिछले वर्ष मैं सर्व सेवा का सदस्य बना और उनके साथ मिलकर कार्य कर रहा हूँ।

NYOOOZ: गरीब बच्चों की शिक्षा के लिए आप किस तरह कार्य करते हैं ?

अमित: मैं अपने साथियों के साथ मिलकर हरिद्वार में ऐसे गरीब बच्चों को ढूंढता हूं जो पढ़ना-लिखना चाहता हो और जिनके माता-पिता भी उनको पढ़ाना चाहते हैं लेकिन पैसा न होने के कारण उसे पढ़ा नहीं पाते हैं। मैं ऐसे बच्चों का दाखिला उन स्कूलों में करवाता हूं जहां फीस बहुत कम होती है या उन स्कूलों में जो NGO की तरफ़ से चल रहे हैं और निःशुल्क शिक्षा दे रहे हैं। मैं इस कार्य के साथ-साथ स्कूलों की व्यवस्था सुधार में भी कार्य करता हूँ जैसे बैठने के लिए बेंच की कमियों को दूर करना, ब्लैक बोर्ड लगवाना, ऐसे कार्यों के लिए सरकार से मदद मांगता हूं और जीतना खुद से होता है करता हूं।

NYOOOZ: सरकार की तरफ से कोई मदद आपको मिलती है?

अमित: हाँ मैं बताना चाहता हूँ की सर्व सेवा के कार्यों से प्रभावित होकर जिला शिक्षा अधिकारी ( बेसिक ) ब्रह्मपाल सिंह सैनी ने व्यवस्था सुधार में सहयोग के लिए सर्व सेवा परिवार की सदस्यता ग्रहण की और कार्यों के लिए आगे आएं और हमारे कदम निरंतर बढ़ रहे हैं। सर्व सेवा द्वारा 20 फरवरी 2018 को राजकीय प्राथमिक विद्यालय न० 44,भूपतवाला , हरिद्वार की एक और व्यवस्था में मूर्तरूप दे दिया गया है। विद्यालय में बच्चों के लिए व्हाईट बोर्ड की व्यवस्था कराई गई है, जिसमें 4-5 कक्षा के बच्चों के लिए बड़ा बोर्ड और छोटी कक्षा के लिए 2 छोटे बोर्ड लगेंगे। ये बोर्ड विद्यालय को सर्व सेवा के सहयोग से विजय अग्रवाल द्वारा भेंट किये गए हैं और बच्चों को पूर्ण लगन निष्ठा भाव से पढ़ने के लिए प्रेरित किया।

NYOOOZ: आप लोगों को क्या संदेश देना चाहेंगे?

अमित: मैं NYOOOZ के माध्यम से लोगों को एक बात कहना चाहता हूं कि समाज में बहुत ऐसे बच्चे हैं जो पढ़ना चाहते है पर मजबूरियों के कारण पढ़ नहीं पाते हैं। आप आगे आकर ऐसे बच्चों के लिए अपनी तरफ से कुछ भी मदद करें। क्योंकि `पढ़ेगा इंडिया, बढ़ेगा इंडिया`

Related Articles