सिटी स्टार: दिल्ली में अच्छी नौकरी छोड़ कर हरिद्वार में गरीब बच्चों को पढ़ा रही विशु

  • Hasnain
  • Thursday | 8th February, 2018
  • local
संक्षेप:

  • बच्चों को  शिक्षा देती हैं विशु चौहान
  • बचपन से ही सामाजिक कार्य करने की थी इच्छा
  • NYOOOZ ने की विशु चौहान से खास बातचीत

हरिद्वार: हरिद्वार की रहने वाली विशु चौहान दिल्ली में एक अच्छी जॉब छोड़ने के बाद हरिद्वार में गरीब बच्चों को शिक्षा प्रदान कर रही है। NYOOOZ से खास बातचीत में विशु ने बताया कि उन्होंने एक साल दिल्ली में जॉब की, फिर छोड़ कर वापस अपने  शहर आने का फैसला किया।

विशु ने बताया कि अपने शहर में वापसी के बाद उन्होंने गरीब लोगों को निशुल्क  प्राथमिक शिक्षा देना शुरू किया। विशु चौहान कहती हैं "वो बचपन से ही ऐसे लोगों के लिए कुछ करना चाहती थी जो गरीब बेसहारा हैं और अपनी गरीबी के कारण पढ़-लिख नहीं पाते हैं ।

उन्होंने कहा कि देश में बहुत ऐसी योजनाएं हैं जिनके तहत लोग अपने बच्चों को पढ़ा सकते हैं पर समाज में कुछ वर्ग ऐसे भी है जिनकों योजनाओं के बारे पता तक नहीं है और कुछ ऐसे भी हैं जो अपनी आर्थिक स्थिति खराब होने  के कारण अपने बच्चों को पढ़ा नहीं पाते हैं।

विशु चौहान ने NYOOOZ को बताया कि मैंने  इसलिए ये कदम उठाया ताकि ऐसे वर्ग के बच्चों को कम से कम मैं पढ़ना-लिखना तो सीखा सकूं।  विशु बताती हैं कि वो रोजाना सुबह अपने घर से निकल कर गरीबों की जुग्गी झोपड़ियों में जाकर बच्चों को इकठ्ठा करती हैं और उनको 2 से 3 घंटे रोजाना पढ़ाती हैं।

विशु चौहान ने कहा कि जब उन्होंने शुरुआत में झुग्गी झोपड़ियों में रहने वाले गरीब  बच्चों को पढ़ाना शुरू किया था तो उस समय बच्चों की संख्या सिर्फ 6-7 थी और आज एक साल बाद वो लगभग 15 से 20 बच्चों को रोजाना पढ़ा  रही हैं।

उनका कहना है कि वो जब भी अपने स्कूल जाया करती थी तो रास्ते में हमेशा उनको ऐसे बच्चे नज़र आ जाया करते थे जो सड़कों पर भीख मांगते रहते थे और अपनी गरीबी के कारण पढ़-लिख नहीं पाते थे। उनको देखकर ही लगा की ऐसे बच्चों के लिए कुछ करना चाहिए।

Related Articles