सिटी स्टार: सीएम ने भी माना कानपुर की दिलप्रीत के दिमाग का लोहा

  • Sonu
  • Saturday | 31st March, 2018
  • local
संक्षेप:

  • कैलकुलेटर से भी तेज चलता है दिमाग
  • IQ से बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड
  • सीएम ने लक्ष्मी बाई अवॉर्ड से किया सम्मानित

कानपुरः कैलकुलेटर गर्ल के नाम से पॉपुलर दिलप्रीत कौर को सीएम योगी आदित्यनाथ ने रानी लक्ष्मी बाई वीरता पुरस्कार से सम्मानित किया। अवॉर्ड के साथ उन्हें एक लाख रुपए का चेक गिफ्ट किया गया। दिलप्रीत लिम्का ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स, 15 नेशनल रिकॉर्ड और 5 से ज्यादा वर्ल्ड रिकॉर्ड अपने नाम कर चुकी हैं।

नॉर्मल से ज्यादा है IQ

अबेकस पद्धति से मैथमैटिक पढ़ाने के एक्सपर्ट मंजीत सिंह वाइफ सिमरन और बेटी दिलप्रीत के साथ नजीराबाद थाना क्षेत्र स्थित गुमटी में रहते हैं। दिलप्रीत हैडार्ड स्कूल में पढ़ती हैं। उनका आईक्यू लेवल सामान्य बच्चों से कहीं ज्यादा है। वो हवा में जोड़-घटाना से लेकर बड़ी-बड़ी गणनाओं को पलक झपकते हल कर देती हैं। वो एक मिनट में सौ से ज्यादा जोड़ने, घटाने, गुणा और भाग के सवाल हल चुकी हैं। इसके साथ ही वह बीस मिनट में एक हजार सवालों को भी पूरा कर चुकी हैं।

साल 2015 में दिलप्रीत ने एक प्रतियोगिता में 8 मिनट में 300 सवाल हल करने थे, लेकिन उन्होंने 7 मिनट में ही प्रतियोगिता जीत ली थी। 2016 में दिल्ली में आयोजित एक प्रतियोगिता में दिलप्रीत ने वर्ड रिकॉर बनाया था, जिसमे केंद्रीय मंत्री वीके सिंह ने सम्मानित किया था।

पापा ने दी है तेज कैलकुलेशन की ट्रेनिंग

दिलप्रीत बताती हैं, "पापा बचपन में ही मुझे मैथ प्रैक्टिस करवाते थे। मैंने इतनी प्रैक्टिस की है कि अब माइंड में कैलकुलेटर की फोटोग्राफिक मेमोरी डेवलप हो गयी है। अब कितना भी लंबा कैलकुलेशन क्यों न हो, मैं पलक झपकते हल कर लेती हूं। यह सारा अबेकस पद्धति का कमाल है।" क्या है यह टेक्नीक, इस पर दिलप्रीत कहती हैं, "इसके बीड्स की फोटोग्राफिक इमेज माइंड में छप जाती है। बच्चों को अबेकस के एक-एक बीड को याद करवाया जाता है। उसका रो और कॉलम एक-एक चीज उसके दिमाग में बैठाते हैं। लगातार प्रैक्टिस से कोई भी कैलकुलेशन आसानी से हो जाती है।

Related Articles