बोर्ड परीक्षा 2018: इंग्लिश सब्जेट की है टेंशन तो ऐसे करें तैयारी

  • कम से कम 6 से 7 साल के सैंपल पेपर्स की तैयारी करें
  • सुबह चैप्टर्स पढ़ें और रात में सैंपल पेपर्स की तैयारी करें
  • हर चैप्टर के बीच के पॉइंट के बनाए नोट्स

बोर्ड परीक्षा के लिए कुछ ही दिन बाकी है जिसको लेकर छात्रों में डर भी है। सीबीएसई के 10वीं के बोर्ड के एग्जाम देने वाले स्टूडेंट्स अगर इंग्लिश में हाई स्कोर करने की तैयारी में हैं, तो टीचर्स की सलाह को जरूर फॉलो करें। इंग्लिश में 90 से ऊपर नंबर लाना मुश्किल नहीं, बस स्मार्ट तैयारी जरूरी है, जिसके लिए अभी भी आपके पास वक्त है।

इंग्लिश की रीडिंग स्किल्स पर पूरा ध्यान दें। आप पहले रीडिंग कर लें, इससे रेफ्रेंस टु कॉन्टेक्स्ट के साथ-साथ रीडिंग सेक्शन वाला हर सेक्शन कवर होगा। यह मुश्किल नहीं है, आपको बस ध्यान से पढ़ना है। रेफ्रेंस टु कॉन्टेक्स्ट 6 नंबर का सवाल आता है। इसके अलावा रीडिंग सेक्शन से 20 नंबर लाए जा सकते हैं। अक्सर बच्चे पोएम वाले सेक्शन में नंबर नहीं ला पाते हैं, इसलिए इस हिस्से की प्रैक्टिस जरूर करें। यह मुश्किल नहीं है, बस ध्यान से पढ़ना और सोचना जरूरी है।

एक्सपर्ट्स का मानना है कि अगर ग्रामर में आप ध्यान दें तो 90 नंबर के पार आप पहुंच सकते हैं। यह आसान होती है और स्कोरिंग भी। अगर बच्चे अभी तैयारी के बीच इसे पहले पूरा कर सकते हैं। साथ ही, ग्रामर बाकी सेक्शन जैसे रीडिंग और राइटिंग में भी आपकी मदद देगी। इस बार चाइल्ड लेबर, बैलंस डायट, एनवइरनमेंटल इशू खासतौर पर स्मॉग को लेकर सवाल पूछे जा सकते हैं। साथ ही नैशनल इंटिग्रेटेशन यूनिट से स्पोर्ट्स और हेल्थ, रोल ऑफ स्टूडेंट्स इन बिल्डिंग नेशन जरूरी टॉपिक हैं। आप बस अलग-अलग आर्टिकल की तैयारी कर लें, उसी का कंटेंट आपका हर जगह काम आएगा फिर चाहे वो निबंध हो या लेटर।

जूलियस सीजर, लेटर, कंप्यूटर गेम्स जैसे कुछ जरूरी चैप्टर ना छोड़ें
कम से कम 6 से 7 साल के सैंपल पेपर्स की तैयारी करें
सुबह चैप्टर्स पढ़ें और रात में सैंपल पेपर्स की तैयारी करें
किताब के हर चैप्टर के बीच पॉइंट में उसके नोट्स छोटे कागजों में लिखकर टैग कर लें
पूरा सेक्शन एक ही साथ पूरा लिखें, अगर कोई सवाल नहीं आ रहा है तो स्पेस छोड़ दें

Related Articles

Leave a Comment