21 साल की उम्र में पीएचडी कर ऐसे बनाई दुनिया में पहचान

  • फिजिकल साइंटिस्ट लेव लांडाउ का 111वां बर्थडे है
  • 21 की उम्र में लेव लांडाउ ने पीएचडी की
  • उन्हें रोकफेल्लर फ़ेलोशिप भी प्राप्त हुई

आज जाने माने फिजिकल साइंटिस्ट लेव लांडाउ का 111वां बर्थडे है। जिन्होंने 20वीं सेंचुरी में फिजिकल साइंस में कई खोज की थी। बता दें उनका जन्म बाकू अजरबैजान में 22 जनवरी 1908 को हुआ था। उन्हें बचपन से ही मैथ्स और साइंस बेहद पसंद था। 13 साल की उम्र में ही उन्होंने अपनी स्कूली पढ़ाई पूरी कर ली थी। जिसके लिए उन्हें नोबेल अवॉर्ड भी दिया गया। आज उनके बर्थडे पर आइए जानते हैं उनकी कुछ खास बातें

1924 में16 साल की उम्र में लेव लांडाउ ने लेनिनग्रेड यूनिवर्सिटी में फिजिकल साइंस में एडमीशन लिया और 21 की उम्र में लेव लांडाउ ने पीएचडी की जिसके लिए उन्हें रोकफेल्लर फ़ेलोशिप भी प्राप्त हुई।

बता दें लेव लांडाउ ने डेन्सिटी मैट्रिक्स मेथड, थिअरी ऑफ फर्मी लिक्विड की खोज की इसी के साथ वह मॉस्को स्टेट यूनिवर्सिटीज में थिअरेटिकल फिजिक्स के प्रफेसर भी रह चुके हैं।1962 में लेव लांडाउ को एक और नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया। जिसके बाद वो दुनिया की नजर में आए और काफी भी प्रसिद्ध हुए। इसा के साथ 1908 में जन्में लेव लांडाउका निधन 1 अप्रैल 1968 को रूस के मॉस्को में हुआ।

Related Articles

Leave a Comment