World Kidney Day 2021: ये कारण हैं किडनी से जुड़ी बिमारियों के, जानें इससे बचने के आसान तरीके

  • आज दुनियाभर में विश्व किडनी दिवस मनाया जा रहा
  • दुनियाभर में इसकी शुरुआत साल 2006 में हुई थी
  • धूम्रपान करने से भी किडनी पर बूरा असर पड़ता है

 

आज दुनियाभर में विश्व किडनी दिवस मनाया जा रहा है. आज दुनियाभर में विश्व किडनी दिवस मनाया जा रहा है. विश्व किडनी दिवस का उद्देश्य दुनिया में लगातार बढ़ रही किडनी की बीमारियों के मामलों को रोकना है. इसके लिए विश्व किडनी दिवस पर कई प्रकार के जागरुकता अभियान का आगाज किया जाता है. जिससे लोगों और दूर-दराज के क्षेत्र में रह रहे लोगों को किडनी की बीमारी के बारे में जागरूक किया जाता है.

किडनी की बीमारी  होने के कारण

हमारे देश में ज्यादातर लोग शराब पीने के आदी हो जाते हैं. जिससे कि हमारे शरीर में इसका सबसे ज्यादा बूरा असर किडनी पर पड़ता है. वहीं, मांस का अधिक सेवन करने से भी किडनी में शिकायत आती है. इसके अलावा पानी कम मात्रा और नमक की ज्यादा मात्रा का सेवन भी किडनी के लिए नुकसानदायक होता है. इनके अलावा दर्दनाशक दवाओं का अधिक सेवन और धूम्रपान करने से भी किडनी पर बूरा असर पड़ता है.

लक्षण

किडनी के दिक्कत होने की दशा में पैरों और आंखों के नीचे सूजन देखी जा सकती है. इसके अलावा किसी काम को करने या फिर चलने पर जल्दी थकान और सांस फूलने की शिकायत आम बात होती है. किडनी के खराब होने की स्थिति में रात में बार-बार पेशाब के लिए उठना पड़ सकता है. किडनी की बीमारी होने पर व्यक्ति में भूख नहीं लगने और हाजमा ठीक नहीं होने की शिकायत देखी गई है. वहीं, खून की कमी से शरीर पीला पड़ने लगता है.

बचाव

फिलहाल किडनी रोगों से बचने के लिए हमें अपनी दिनचर्या में काफी बदलाव करने पड़ सकते हैं. किडनी की समस्या को नियंत्रण में रखने के लिए रोजाना एक्सरसाइज और वजन कंट्रोल में रखना बेहद जरूरी है. वहीं, रोजना 8 से 10 गिलास पानी का सेवन हमारी किडनी को स्वस्थ रखते हैं. इसके अलावा खाने में फल और हरी सब्जियां का ज्यादा इस्तेमाल किडनी के लिए लाभकारी साबित होता है.

 

इसके अलावा किडनी की बिमारियों से बचने के लिए स्वामी रामदेव बाबा के बताए हुए कुछ योग आसन जानने के लिए यह वीडियो देखें...

 

Related Articles

Leave a Comment