राष्ट्रपति भवन का मुगल गार्डन नहीं देखा तो क्या देखा...

  • मुगल गार्डन मंगलवार 6 फरवरी से खुला
  • राष्ट्रपति भवन के गेट नंबर 35 से एंट्री
  •  2 मार्च को होली के मौके पर होगा बंद

राष्ट्रपति भवन का मुगल गार्डन एक बार फिर से आम जनता के लिए खुल गया है। हर साल फरवरी से मार्च के बीच करीब एक महीने से ज्यादा वक्त के लिए उद्यानोत्सव मनाया जाता है और इस दौरान मुगल गार्डन आम लोगों के लिए खुलता है। इस साल मुगल गार्डन मंगलवार 6 फरवरी से खुल गया है। जो 9 मार्च तक खुला रहेगा। जानिए क्या-क्या खास है मुगल गार्डन में जानें।

राष्ट्रपति भवन के गेट नंबर 35 से सुबह 9.30 बजे से शाम 4 बजे तक मुगल गार्डन में एंट्री की जा रही है। राष्ट्रपति भवन की मुख्य इमारत से सटे विशाल आयताकार गार्डन के इस बेहद खूबसूरत हिस्से में सजावटी पेड़-पौधे और फव्वारों के अलावा फूलों के कार्पेट भी मन मोहते हैं। यहां ट्यूलिप, मोगरा-मोतिया, रजनीगंधा, बेला, रात की रानी, जूही, चम्पा-चमेली जैसे कई फूल देखने को मिलेंगे।

थोड़ा आगे जाने पर आपको मिलेगा रोज़ गार्डन। गुलाब की तकरीबन 135 किस्में हैं इस बगिया में। क्वीन एलिजाबेथ, मदर टेरेसा, एंजलिक, ब्लू मून, ब्लैक रोज, ग्रीन रोज जैसे सजावटी और खुशबू वाली दोनों वराइटी इनमें शामिल है। यह दुनिया के बेस्ट रोज गार्डन्स में से एक है।

विभिन्न धार्मिक विश्वासों से जुड़े चंदन, बेर, रीठा, रुद्राक्ष, खजूर, क्रिसमस-ट्री, कल्पवृक्ष आदि पेड़-पौधों से सुसज्जित गार्डन आपको ऐतिहासिकता और पौराणिकता के माहौल का अहसास कराएगा। यहां है अश्वगंधा, ब्रह्मी, लेमन-ग्रास, पांच तरह की मिंट, खस, ईसबगोल, खुशबूदार तेलों वाला जिरेनियम और स्टीविया जैसे औषधीय पेड़-पौधे की भरमार। हर्बल गार्डन की बाईं ओर है म्यूजिकल फाउंटेन गार्डन। यहां म्यूजिक के साथ चलते फव्वारे आपके सैर के उत्साह को दोगुना कर देंगे।

यहां देखने को मिलेंगी 50 तरह के पौधों की बोंसाई किस्में जैसे गुग्गुल, पीपल, बरगद, नीम, फाइकस, खिरनी, इमली, रतनजोत आदि। यहां देश की सर्वश्रेष्ठ बोंसाई किस्में पायी जाती हैं। 6 से 9 मार्च के बीच पड़ने वाले सोमवार, ये दिन रखरखाव के लिए तय है। वहीं, भी 2 मार्च को होली के मौके पर बंद रहेगा।

Related Articles

Leave a Comment