आगरा: भूमाफियाओं ने 10 अरब रुपए की सरकारी जमीन हड़पी

  • Wednesday | 10th May, 2017
संक्षेप:

  • प्रदेश सरकार ने जमीन को कब्जे से हटाने के लिए बनाई है टास्क फोर्स
  • आगरा में सिंचाई विभाग की जमीन पर भूमाफियाओं का है कब्जा
  • वरिष्ठ वकील ने जमीन से कब्जा हटाने की मांग की

आगरा: प्रदेश सरकार ने भूमाफियाओं से जमीन कब्जा हटाने के लिए टास्क फोर्स का गठन किया है लेकिन आगरा में करीब 10 अरब रुपये की बेशकीमती जमीन को विभागीय अधिकारियों और कर्मचारियों की सांठगांठ के चलते कब्जा किए हुए हैं। योगी सरकार से भाजपा के नेता और वरिष्ठ वकील ने सिंचाई विभाग की जमीन को अतिक्रमण मुक्त कराने की मांग की है।

अधिवक्ता और भाजपा नेता कुंवर शैलराज सिंह ने कहा है कि उन्होंने सिंचाई विभाग की अरबों रुपये की जमीन पर अतिक्रमण का मामला सामने रखा। उन्होंने बताया कि सिंचाई विभाग की अरबों रुपये की जमीन पर भूमाफियाओं ने कब्जा कर रखा है। साल 2006 में उन्होंने हाईकोर्ट में इस संबंध में एक आईपीएल दाखिल की थी।

उस वक्त हाईकोर्ट ने आदेश दिए थे कि अतिक्रमण हटाया जाए और विभागीय जमीन को कब्जा मुक्त किया जाए। लेकिन विभाग ने 10 सालों में कोई कार्रवाई नहीं की। उन्होंने बताया कि ये जमीन बेशकीमती है। जो भगवान टॉकीज चौराहे से विभिन्न दिशाओं ओर भूमाफियाओं ने कब्जा कर रखी है। जिसमें मनोज टाबा, कमला नगर, पदम प्लाजा सं​चालित हो रहे हैं।

ये भी पढ़े : कोल्डड्रिंक में नशा देकर विवाहिता का अपहरण कर लिया। युवक ने अपने दोस्त के साथ मिलकर पांच दिन तक सामूहिक दुष्कर्म किया। पीड़िता ने पुलिस को सुनाई आपबीती...


उन्होंने इस संबंध में​ जिलाधिकारी आगरा को भी पत्र लिखा। वहीं आरटीआई के माध्यम से जमीन की कीमत की जानकारी ली, तो हैरान रह गए। करीब एक लाख तेतालीस हजार सात सौ पंद्रह वर्ग मीटर की जमीन पर भूमाफियाओं के कब्जे में है। जिलाधिकारी कार्यालय और सिंचाई विभाग ने अभी तक इन स्थानों पर कोई कार्रवाई नहीं की है।

अधिवक्ता का कहना है कि अभी तक एक ही अभिलेश उपलब्ध कराया गया है। यदि सभी ​अभिलेख उपलब्ध कराए जाएं, तो करीब 100 अरब रुपये की जमीन पर भूमाफियाओं ने कब्जा कर लिया है। उच्च न्यायालय के आदेश के दस साल बाद भी सिंचाई विभाग की बेशकीमती जमीन पर अतिक्रमण हटाने की कोई कार्रवाई नहीं की गई। उन्होंने बताया कि डीएम द्वारा इस जमीन की कीमत का आकलन 10 अरब रुपये आंका गया है। प्रदेश सरकार और जिला प्रशासन से मांग की गई कि अतिक्रमण हटाया जाए और भू​माफियाओं पर कार्रवाई की जाए।

इन स्थानों पर इतनी जगह

गैलाना 48,760 वर्ग मीटर
नगला पदी 4,780
लश्कर न्यू आगरा 10,575
जगनपुर न्यू आगरा 5,490
घटवासन कमला नगर 74,170

If You Like This Story, Support NYOOOZ

NYOOOZ SUPPORTER

NYOOOZ FRIEND

Your support to NYOOOZ will help us to continue create and publish news for and from smaller cities, which also need equal voice as much as citizens living in bigger cities have through mainstream media organizations.

अन्य आगरा न्यूज़ हिंदी में पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें | देशभर की सारी ताज़ा खबरें हिंदी में
पढ़ने के लिए NYOOOZ HINDI को सब्सक्राइब करें |

Related Articles