ताजमहल में शुक्रवार को महिलाओं का प्रवेश रोका जाए, देखें वीडियो

आगरा। सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया है कि ताजमहल में शुक्रवार को बाहरी मुस्लिम नमाज नहीं पढ़ सकते हैं।

इस आदेश के खिलाफ ताजमहल मस्जिद प्रबंध समिति के अध्यक्ष इब्राहीम हुसैन जैदी ने पुनर्विचार याचिका प्रस्तुत करने का ऐलान किया है।

इसके साथ ही भारतीय जनता पार्टी के महानगर महामंत्री अश्वनी वशिष्ठ ने नमाज को लेकर एक बयान देकर सनसनी फैला दी है।

उनका कहना है कि ताजमहल में नमाज के बहाने महिलाओं का प्रवेश तत्काल रोक जाए।

यह भी पढ़ें

ताजमहल में नमाज पढ़ने पर रोक

 

ताज के आसपास के लोग ही नमाज के हकदार

उनका कहना है कि ताजमहल मस्जिद में नमाज सिर्फ ताजमहल की 500 मीटर की परिधि में रहने वाले मुस्लिम ही अदा कर सकते हैं।

यह वह क्षेत्र है, जहां डीजल और पेट्रोल चालित वाहनों पर भी रोक लगी हुई है।

यहां के लोगों के लिए संभागीय परिवहन अधिकारी (आरटीओ) ने वाहन पास जारी किए हैं।

नियमतः आगरा शहर के अन्य मोहल्लों में रहने वाले नमाज अदा नहीं कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें

ताजमहल में नमाज पढ़ने पर सुप्रीम कोर्ट की रोक के बाद मस्जिद प्रबंधन समिति उठाएगी ये बड़ा कदम, देखें वीडियो

महिलाओं का प्रवेश क्यों

श्री वशिष्ठ ने कहा है कि ताजमहल मस्जिद में महिलाएं नमाज अदा नहीं करती हैं।

डिसक्लेमर :ऊपर व्यक्त विचार इंडिपेंडेंट NEWS कंट्रीब्यूटर के अपने हैं,
अगर आप का इस से कोई भी मतभेद हो तो निचे दिए गए कमेंट बॉक्स में लिखे।

अन्य आगरा न्यूज़ हिंदी में पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें | देशभर की सारी ताज़ा खबरें हिंदी में
पढ़ने के लिए NYOOOZ HINDI को सब्सक्राइब करें |

Related Articles