इलाहाबाद में अब एएसपी और आईजी से भिड़े बीजेपी विधायक हर्षवर्धन वाजपेयी

संक्षेप:

  • बीजेपी विधायक हर्षवर्धन वाजपेयी का एक और वीडियो वायरल
  • बीच सड़क पर एएसपी सुकीर्ति माधव और आईजी रामित शर्मा से भिड़े हर्षवर्धन
  • सिद्धार्थनाथ सिंह के घर जाने के दौरान गाड़ी रोके जाने से हुए आक्रोशित

इलाहाबाद: इलाहाबाद शहर उत्तरी से बीजेपी विधायक हर्षवर्धन वाजपेयी एक बार फिर से पुलिस से बदतमीजी करते हुए दिखाई दे रहे हैं और ये वीडियो भी वायरल हो गया है।

आपको बता दें कि कुछ दिन पहले सीएम योगी के संगम नगरी आगमन के दौरान एसपी गंगा पार को खरी खोटी सुनाई थी। अब इस बार राज्यपाल से मिलने जाते वक्त उनकी कार रोक दी गई, जिससे विधायक का पारा सातवें आसमान पर चढ़ गया। गाड़ी रोकने के बाद एडिशनल एसपी से नोकझोंक भी हुई। वहीं इसके बाद में बीच बचाव करने पहुंचे आईजी रमित शर्मा के साथ भी हुई।

तकरार की वजह विधायक कोे सम्मान ना मिलने की बात सामने आ रही है। दोनों पक्ष इस पूरी घटनाक्रम पर चुप्पी साधे रहे। कार्यक्रम के सिलसिले में राज्यपाल राम नाईक शहर में थे और कुछ देर के लिए अत्तरसिया क्षेत्र में स्थित 250 साल पुरानी कोठी को देखने चौधरी जीता सिंह के घर पर पहुंचे।

ये भी पढ़े : जेल से पूर्व बाहुबली विधायक उदयभान करवरिया ने लिखा सीएम योगी को पत्र, उठाया ये मुद्दा


इस मौके पर कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह नंद गोपाल गुप्ता नंदी मेयर अभिलाषा समेत तमाम प्रशासनिक अफसर भी उनसे मिलने पहुंचे थे। पहले ही बैरियर लगाकर पुलिस ने वाहनों का आवागमन रोक दिया था इसी दौरान शहर उत्तरी विधायक हर्षवर्धन बाजपेई भी पहुंचे तो बैरियर पर ही उनकी कार को रोक दिया गया। 

प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो विधायक को नागवार गुजरा और एडिशनल एसपी सुकृति माधव से नाराजगी जताने लगे। देखते ही देखते बात बड़ी और नोकझोंक शुरू हो गई जिस वक्त यह हुआ उस वक़्त पीछे आईजी रमित शर्मा भी दूसरी गाड़ी से आ रहे थे। वहीं मामला बढ़ता देखकर उन्होंने बचाव की कोशिश की।

उन्होंने एसपी से आदेशित करते हुए विधायक से भी शांत रहने को कहा इस पर विधायक आईजी से बोले कि SP को समझाइए यहां भी कुछ देर के लिए तकरार की स्थिति बन गई। दोनों पक्षों की बातचीत में तल्ख़ रुख दिखाई दिया।विधायक और आईजी रमित शर्मा से जब इस मुद्दे पर बात करने की कोशिश की गई तो उनसे संपर्क ही नहीं हो सका।

कुछ इस तरह हुई बहस...

आईजी - आराम से प्लीज... फिंगर नीचे

विधायक- फिंगर आप भी नीचे करें ना...

आईजी- फिंगर नीचे

विधायक- आप काहे फिंगर ऊपर किए हुए हैं भाई...

आईजी- ये बात करने का तरीका नहीं है...

विधायक- आप मुझे उंगली क्यों दिखा रहे हैं...

आईजी- शांत हो जाइए...

एएसपी- मैंने आपको रिक्वेस्ट किया कि नहीं?

विधायक- आप बात सुन लें बात क्या हुई...

आईजी- प्लीज शांत हो जाइए...

विधायक- पहले मेरी बात सुन लें शर्मा जी...

आईजी- आप इधर आइए...

विधायक - उतर के काहे आएं भाई?

 
आईजी- आप कार से बाहर आइए...

विधायक- मुझे कार्यक्रम में बुलाया गया है...

आईजी- लोग फोटोग्राफ ले रहे हैं, बेवजह में...

विधायक- तो कंट्रोल कीजिए इन्हें...

एएसपी- मैंने कुछ गलत नहीं किया... मैंने आपसे रिक्वेस्ट किया था.

विधायक- इन्होंने कमिश्नर को जाने दिया, लेकिन मुझे नहीं जाने दिया.

एएसपी- मैं किसी को इजाजत देने वाला कौन होता हूं...

आईजी- ये आपके साथ ही क्यों होता है...

विधायक- क्योंकि मैं हमेशा मौजूद रहता हूं, दूसरे लोग आते ही नहीं.

कौन हैं हर्षवर्धन वाजपेयी?

हर्षवर्धन वाजपेयी ने बीटेक की पढ़ाई है. पहली बार उन्होंने इलाहाबाद शहर उत्तरी से बहुजन समाज पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ा था. हालांकि, कांग्रेस के उम्मीदवार अनुग्रह नारायण सिंह ने उन्हें हरा दिया था. इसके बाद 2017 में वो पहली बार विधायक चुने गए. हर्षवर्धन की मां रंजना वाजपेयी समाजवादी पार्टी की महिला विंग की राष्ट्रीय अध्यक्ष रही थीं. दादी राजेंद्र कुमारी वाजपेयी केंद्रीय मंत्री रह चुकी हैं.

Read more Allahabad News In Hindi here. देशभर की सारी ताज़ा खबरें हिंदी में पढ़ने के
लिए NYOOOZ HINDI को सब्सक्राइब करें |

Related Articles