सुनहरा मौका! सिपाही भर्ती के लिए ऑनलाइन आवेदन शुरू, जल्दी करें अप्लाई

संक्षेप:

  • यूपी पुलिस में जाने का सपना देखने वाले युवाओं के पास सुनहरा मौका
  • 49,568 पदों पर भर्ती के लिए 19 नवंबर से ऑनलाइन आवेदन शुरू
  • 8 दिसंबर 2018 है आवेदन की आखिरी तारीख

लखनऊ: यूपी पुलिस में जाने का सपना देखने वाले युवाओं के पास सुनहरा मौका है. सिविल पुलिस एवं पीएसी में सिपाही के 49,568 पदों पर भर्ती के लिए 19 नवंबर से ऑनलाइन आवेदन शुरू हो चुका है. आवेदन की आखिरी तारीख 8 दिसंबर 2018 है.

उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड में ऑनलाइन आवेदन शुल्क जमा करने की अंतिम तिथि भी 8 दिसंबर 2018 ही है जबकि ऑफलाइन (ई-चालान) आवेदन शुल्क जमा करने की अंतिम तिथि 10 दिसंबर 2018 होगी. भर्ती प्रक्रिया में सभी श्रेणी के अभ्यर्थियों के लिए आवेदन शुल्क 400 रुपये रखा गया है.

बोर्ड के अपर सचिव ने बताया कि सिविल पुलिस में सिपाही के 31,360 पदों में से 15,681 पद अनारक्षित, 8467 पद अन्य पिछड़ा वर्ग, 6585 पद अनुसूचित जाति और 627 पद अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं.

ये भी पढ़े : भारतीय सेना में जाने का सुनहरा मौका, कर सकते हैं ऑनलाइन आवेदन


इसी तरह पीएसी में सिपाही के 18,208 पदों में से 9104 पद अनारक्षित, 4916 पद अन्य पिछड़ा वर्ग, 3824 पद अनुसूचित जाति और 364 पद अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं. सिविल पुलिस में सिपाही के पदों पर भर्ती के लिए पुरुष व महिला दोनों आवेदन कर सकते हैं, जबकि पीएसी में सिपाही के पदों पर केवल पुरुष अभ्यर्थी ही आवेदन कर सकेंगे.

पदों की संख्या:

सिविल पुलिस में सिपाही के 31360 पदों पर भर्ती
15681 पद अनारक्षित
8467 पद अन्य पिछड़ा वर्ग
6585 पद अनुसूचित जाति
627 पद अनुसूचित जनजाति

पीएसी में सिपाही के 18208 पदों पर भर्ती
9104 पद अनारक्षित
4916 पद अन्य पिछड़ा वर्ग
3824 पद अनुसूचित जाति
364 पद अनुसूचित जनजाति

महत्वपूर्ण तारीख
ऑनलाइन आवेदन शुरू होने की तारीख- 19 नवंबर
आवेदन की अंतिम तारीख - 8 दिसंबर
आवेदन शुल्क जमा करने की अंतिम तारीख - 8 दिसंबर
ऑफलाइन (ई-चालान) आवेदन शुल्क जमा करने की आखिरी तारीख - 10 दिसंबर

आयु सीमा
पुरुष - 18 से 22 वर्ष
महिला - 18 से 25 वर्ष
शैक्षिक योग्यता - भारत में मान्यता प्राप्त किसी बोर्ड द्वारा 12वीं पास या समकक्ष परीक्षा में उत्तीर्ण
आवेदन शुल्क - 400 रुपये

Your support to NYOOOZ will help us to continue create and publish news for and from smaller cities, which also need equal voice as much as citizens living in bigger cities have through mainstream media organizations.

Read more Allahabad News In Hindi here. देशभर की सारी ताज़ा खबरें हिंदी में पढ़ने के
लिए NYOOOZ HINDI को सब्सक्राइब करें |

Related Articles