FACEBOOK पर ईवीएम के बारे में अफवाह उड़ाने पर 2 गिरफ्तार

संक्षेप:

  • ईवीएम को लेकर फेसबुक पोस्ट करने पर दो गिरफ्तार
  • फेसबुक पर अफवाहें फैलाने वालों के खिलाफ एक्शन में पुलिस
  • अलग-अलग प्लेटफार्म पर ईवीएम को लेकर तरह-तरह की चर्चाओं का सिलसिला रहा जारी

लोक सभा चुनाव के एग्ज़िट पोल के आंकलन के बाद ईवीएम मशीन को लेकर लगातार अफवाह उड़ रही है. ऐसे में सोशल मीडिया भी पीछे नहीं है. पूर्वांचल में लगातार ईवीएम बदलने की अफवाह उड़ रही हैं. कई लोग सोशल मीडिया पर भी पोस्ट कर ईवीएम भरी गाड़ी पहुंची या ईवीएम बदलने की अफवाह फैला रहे थे. फैल रहे अफवाह को लेकर पुलिस ने एक्शन लेना शुरू कर दिया है.

अब ऐसी ही फेसबुक पर अफवाहें फैलाने वालों के खिलाफ एक्शन लेते हुए पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है जबकि दो पर मुकदमा दर्ज किया गया है.

ये भी पढ़े : प्रयागराज से चेन्नई के लिए मिलेगी सीधी फ्लाइट, Indigo और Air India ने किया सर्वे


गिरफ्तार युवकों में एक आजमगढ़ और एक जौनपर का है, जबकि वाराणसी के दो लोगों पर खिलाफ साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने संबंधी मामला दर्ज किया गया है. आजमगढ़ एसपी त्रिवेणी सिंह ने बताया कि आखापुर निवासी उमेश गौतम ने फेसबुक पर पोस्ट किया था कि प्रशासन ईवीएम बदलवा रहा है.

फेसबुक पर फर्जी फोटो अपलोड कर ईवीएम बदलने की अफवाह फैलाने के आरोप में लाइनबाजार थाने की पुलिस ने एक युवक को गिरफ्तार किया है. सीओ सिटी नृपेंद्र ने बताया कि नगर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला मीरमस्त निवासी फैजान खान ने अपने फेसबुक वाल पर फर्जी फोटो लगाकर जौनपुर में ईवीएम बदलने की अफवाह फैलाई थी.

वहीं वाराणसी में `पहड़िया मंडी में ईवीएम भरी दो मैजिक पहुंचीं` जैसा फेसबुक पर पोस्ट करने वाले पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है। यह मैसेज सोमवार को अपने फेसबुक वॉल पर पोस्ट करने वाले शशि गुप्ता के खिलाफ मंगलवार को कैंट थाने में पुलिस की ओर से मुकदमा दर्ज किया गया है। इसके साथ ही ऐढ़े निवासी विनय कुमार के खिलाफ भी फेसबुक पर ईवीएम के संबंध में अफवाह फैलाने और दुष्प्रचार करने के आरोप में कैंट थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है।

कैंट इंस्पेक्टर के अनुसार, शशि गुप्ता और विनय कुमार की तस्दीक कर दोनों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इस बीच मंगलवार को भी सोशल मीडिया के अलग-अलग प्लेटफार्म पर ईवीएम को लेकर तरह-तरह की चर्चाओं का सिलसिला जारी रहा.

चंदौली, गाजीपुर, जौनपुर और मऊ में ईवीएम की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर राजनीतिक दलों और पुलिस के बीच सोमवार रात नोकझोंक हुई थी. सोशल मीडिया से यह प्रकरण जिले के लोगों की जानकारी में आया तो कुछ लोग फेसबुक और व्हाट्सऐप सहित सोशल मीडिया के अन्य प्लेटफार्म पर ईवीएम की सुरक्षा और उसमें छेड़छाड़ से संबंधित मैसेज शेयर करने शुरू कर दिए.

एसपी सिटी दिनेश कुमार सिंह ने बताया कि सभी थानाध्यक्षों और सोशल मीडिया सेल को ऐसे संदेशों पर नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं. कहा गया है कि जो कोई भी ईवीएम को लेकर अफवाह फैलाए, उसे चिह्नित कर उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर निरोधात्मक कार्रवाई में देरी ना करें.                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                           

Your support to NYOOOZ will help us to continue create and publish news for and from smaller cities, which also need equal voice as much as citizens living in bigger cities have through mainstream media organizations.

Related Articles