Lok Sabha Election 2019: छठे चरण में सपा-बसपा का `गणित` मजबूत, यूपी के 14 में से 12 सीटों पर BJP को खतरा

संक्षेप:

  • 12 मई को होने वाले छठे चरण के चुनाव में यूपी की 14 सीटों पर बीजेपी को सपा-बसपा गठबंधन की सबसे कठिन चुनौती का सामना करना पड़ेगा.
  • चुनावी गणित में इस चरण की लगभग सभी 14 सीटों पर समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) गठबंधन के पक्ष में बैठता है.
  • क्योंकि महागठबंधन यहां मजबूत विकेट पर खेल रहा है.

इलाहाबाद:12 मई को होने वाले छठे चरण के चुनाव में यूपी की 14 सीटों पर बीजेपी को सपा-बसपा गठबंधन की सबसे कठिन चुनौती का सामना करना पड़ेगा, क्योंकि चुनावी गणित इस चरण की लगभग सभी 14 सीटों पर समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) गठबंधन के पक्ष में बैठता है. बीजेपी ने 2014 में इन सीटों में से आजमगढ़ को छोड़कर सभी पर कब्जा जमाया था. लेकिन, इस बार इन सीटों पर जीत दर्ज करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के करिश्मे को असर दिखाना होगा, क्योंकि महागठबंधन यहां मजबूत विकेट पर खेल रहा है.

फूलपुर में हुई गठबंघन की शुरूआत क्या 2019 में करिश्मा करेगी

फूलपूर में, जहां से गठबंधन ने अपने प्रयोग की शुरुआत की थी, भाजपा को यहां पहले ही गठबंधन की मजबूती का एहसास हो चुका है. 2018 उपचुनाव में पार्टी को हार का सामना करना पड़ा था.अगर सपा व बसपा उम्मीदवारों को 2014 में मिले वोट को देखें और अगर दोनों पार्टियों के पारंपरिक मतदाताओं ने उनका साथ नहीं छोड़ा तो भाजपा संभवत: प्रतापगढ़ को छोड़कर सभी 14 सीटों पर हारने की स्थिति में है. बीजेपी इन सीटों पर काफी हद तक प्रधानमंत्री मोदी के वोट को अपने पक्ष में करने की शक्ति पर निर्भर है, क्योंकि उनका धुआंधार चुनाव प्रचार पारंपरिक वोट बैंक की सीमाओं को तोड़ने वाला साबित हो सकता है.

ये भी पढ़े : UP के कई विश्वविद्यालय में कहीं हिंदू पढ़ा रहे हैं उर्दू तो कहीं मुसलमान पढ़ा रहे हैं हिंदी-संस्कृत


पांच चरण के चुनाव के बाद उत्तर प्रदेश की 80 में से 53 सीटों पर उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला ईवीएम में कैद हो चुका है.

आजमगढ़ का मुकाबला एकतरफा

आजमगढ़ से अखिलेश यादव का सामना प्रसिद्ध भोजपुरी कलाकार दिनेश लाल यादव निरहुआ से है। इस सीट पर 2014 में मुलायम सिंह यादव ने जीत दर्ज की थी.इस चरण में भाजपा नेता मेनका गांधी के भी भाग्य का फैसला होगा.वह इस बार सुलतानपुर से चुनाव लड़ रही हैं जहां से उनके बेटे वरुण गांधी मौजूदा सांसद हैं.

छठे चरण के चुनाव के अंतर्गत सीटों का विश्लेषण इस प्रकार है.

श्रावस्ती (2014)

विजेता : ददन मिश्रा : भाजपा : वोट प्राप्त 3,45,964
अतीक अहमद : सपा : 2,60,051
लालजी वर्मा : बसपा : 1,94,890
सपा और बसपा मिलाकर : 4,54,890
फायदा : महागठबंधन को
2019 में प्रत्याशी
ददन मिश्रा : भाजपा
धीरेंद्र प्रताप सिंह : संप्रग
राम शिरोमणी वर्मा : महागठबंधन

डुमरियागंज(2014)

विजेता : जगदंबिका पाल : भाजपा : 2,98,845
माता प्रसाद पांडे : सपा : 1,74,778
मुहम्मद मुकीम : बसपा : 1,95,257
फायदा : महागठबंधन
2019 में प्रत्याशी
जगदंबिका पाल : भाजपा
आफताब आलम : महागठबंधन

सुलतानपुर (2014)

विजेता : फिरोज वरुण गांधी, भाजपा : 4,10,348
पवन पांडे : बसपा : 2,31,446
शकील अहमद : सपा : 2,28,114
सपा और बसपा मिलाकर : 4,59,590
फायदा : महागठबंधन
2019 में प्रत्याशी
मेनका गांधी : भाजपा
संजय सिंह : संप्रग
चंद्रभद्र सिंह : महागठबंधन
कमला यादव : पीडीए

प्रतापगढ़ (2014)

विजेता : कुंवर हरिवंश सिंह : भाजपा : 3,75,789
आसिफ निजामुद्दीन : बसपा : 2,07,567
प्रमोद कुमार सिंह पटेल: सपा : 1,20,107
सपा और बसपा को मिलाकर : 3,27,674
फायदा : भाजपा

लालगंज (2014)

विजेता : नीलम सोनकर : भाजपा : 3,24,016
डॉ. बलिराम-बसपा : 2,33,971
बेचाई सरोज : सपा : 2,60,930
सपा और बसपा को मिलाकर : 4,94,901
फायदा: महागठबंधन
2019 में प्रत्याशी
नीलम सोनकर : भाजपा
पंकज मोहन सरकार : संप्रग
संगीता : महागठबंधन
हेमराज पासवान : पीडीए

आजमगढ़ (2014)

विजेता : मुलायम सिंह यादव : सपा : 3,40,306
रामाकांत यादव : भाजपा : 2,77,102
शाह आलम : बसपा : 2,66,528
सपा और बसपा को मिलाकर : 6,06,834
फायदा : महागठबंधन
2019 में प्रत्याशी
दिनेश लाल यादव निरहुआ : भाजपा
अखिलेश यादव : महागठबंधन

जौनपुर (2014)

विजेता : कृष्ण प्रताप : भाजपा-3,67,149
पारसनाथ यादव : सपा-1,80,003
सुभाष पांडेय : बसपा-2,22,0839
सपा और बसपा को मिलाकर : 4,00,842
फायदा : महागठबंधन
2019 में प्रत्याशी
के.पी. सिंह : भाजपा
देवव्रत मिश्रा : संप्रग
श्याम सिंह यादव : महागठबंधन
संगीता यादव : पीडीए

मछलीशहर (2014)

विजेता : राम चरित्र निषाद - भाजपा : 4,38,210
तूफानी : सपा-1,91,387
भोलानाथ : बसपा - 2,66,055
सपा और बसपा को मिलाकर : 4,57,442
फायदा- महागठबंधन
2019 में प्रत्याशी
वीपी सरोज : भाजपा
त्रिवेणी राम : महागठबंधन

भदोही (2014)

विजेता वीरेंद्र सिंह : भाजपा-4,03,695
सीमा मिश्रा : सपा-2,38,712
राकेश धर त्रिपाठी : बसपा- 2,45,554
फायदा : महागठबंधन
2019 में प्रत्याशी
रमेश बिंद-भाजपा
रमाकांत यादव- संप्रग
रंगनाथ मिश्रा-महागठबंधन

बस्ती (2014)

विजेता हरीश द्विवेदी : भाजपा- 3,57,680
बृजकिशोर सिंह : सपा-3,24,118
रामप्रसाद चौधरी : बसपा - 2,83,747
सपा और बसपा को मिलाकर : 6,07,865
फायदा : महागठबंधन
2019 में प्रत्याशी
हरीश द्विवेदी : भाजपा
राजकिशोर सिंह : संप्रग
रामप्रसाद चौधरी : महागठबंधन
रामकेवल यादव : पीडीए

संतकबीर नगर (2014)

विजेता : शरद त्रिपाठी : भाजपा-3,48,892
भीष्म शंकर उर्फ कौशल तिवारी : बसपा-2,50,914
धालचद्र यादव : सपा - 2,40,169
फायदा : महागठबंधन
2019 में प्रत्याशी
प्रवीण कुमार निषाद : भाजपा
परवेज खान : संप्रग
भीष्म शंकर उर्फ कौशल तिवारी : महागठबंधन

इलाहाबाद (2014)

विजेता श्याम चरण गुप्ता : भाजपा- 3,13,772
केशरी देवी : बसपा - 1,62,073
कुंवर रेवती रमण सिंह : सपा - 2,51,763
सपा और बसपा को मिलाकर : 4,13,836
फायदा : महागठबंधन
2019 में प्रत्याशी
रीता बहुगुणा : भाजपा
राजेंद्र सिंह पटेल : महागठबंधन
योगेश शुक्ला : संप्रग

अंबेडकर नगर (2014)

विजेता : हरि ओम पांडेय : भाजपा-4,32,104
राकेश पांडेय : बसपा-2,92,675
राममूर्ति वर्मा : सपा-2,34,467
सपा और बसपा को मिलाकर : 5,22,142
फायदा : महागठबंधन
2019 में प्रत्याशी
मुकुट बिहारी वर्मा : भाजपा
उम्मेद सिंह निषाद : संप्रग
रितेश पांडेय : महागठबंधन
प्रेम निषाद : पीडीए

फूलपुर (2014)

विजेता : केशव प्रसाद मौर्या : भाजपा : 5,03,564
कपिल मुनी करवारिया : बसपा : 1,63,710
धर्म राज सिंह पटेल : 1,95,082
सपा बसपा को मिलाकर : 3,58,792
फायदा : भाजपा
2019 में प्रत्याशी
केशरी पटेल : भाजपा
पंकज निरंजन : संप्रग
पंधेरी यादव : महागठबंधन
प्रिया सिंह : पीडीए

If You Like This Story, Support NYOOOZ

NYOOOZ SUPPORTER

NYOOOZ FRIEND

Your support to NYOOOZ will help us to continue create and publish news for and from smaller cities, which also need equal voice as much as citizens living in bigger cities have through mainstream media organizations.

Related Articles