आखिर क्यों Sonam की शादी से गायब रही Anand Ahuja का परिवार !

संक्षेप:

  • 8 मई को शादी के बंधन में बंधे सोनम-आनंद
  • शादी और रिसेप्शन पर उमड़ा पूरा बॉलीवुड
  • नहीं दिखी आनंद आहूजा की फैमिली किसी भी फंक्शन में

सोनम कपूर और आनंद आहूजा की शादी को लेकर बॉलीवुड से जुड़े तमाम सेलेब्रिटी बेहद एक्साइटेड थे. सोनम और आनंद के फैन्स भी लगातार शादी की रस्मों से आउट हो रही फोटोज़-वीडियोज़ को देख कर बेहद खुश थे. ये ही वजह रही इस ग्रांड वेडिंग से आउट हो रही हर छोटी-से-छोटी अपडेट को भी सभी लोगों ने बड़े ही ग़ौर से देखा.

ये ही वजह रही कि इस शादी से आउट हो रही ज़्यादातर तस्वीरों में दूल्हे राजा यानि कि आनंद आहूजा का परिवार गायब रहा. जी हां, अगर आपने भी गौर किया हो तो इस ग्रांड वेडिंग में आहूजाज़ गायब रहे. इतना ही नहीं सोनम कपूर आहूजा और आनंद आहूजा के फैन पेज पर भी किसी ने भी आनंद के पैरेंट्स या रिश्तेदार को नहीं देखा.

ये भी पढ़े : 66वां नेशनल फिल्म अवॉर्ड, अंधाधुन को बेस्ट फिल्म का पुरस्कार


 

A post shared by Sonam Weds Anand (@sonamkishaadi) on

वहीं बात करें कपूर फैमिली की तो मेंहदी सेरेमनी से लेकर शादी के रिसेप्शन तक कपूर फैमिली पूरी तरह से लाइमलाइट में रही. पापा अनिल कपूर से लेकर मॉम सुनीता कपूर, ताऊ बोनी कपूर, चाचा संजय कपूर, भाई-बहन जाह्नवी, खुशी, अंशुला, अर्जुन, हर्षवर्धन तक सभी ने तीनों सेरेमनी में शानदान अपीयरेंस दी.

 

#boneykapoor with his daughters for #sonamkishaadi

A post shared by Sonam Weds Anand (@sonamkishaadi) on

 

These two!! ️ #sonamkishaadi #sonamkapoor #sonamanandwedding

A post shared by Sonam Kapoor Ahuja ️ (@sonamkapoorfan) on

 

Perfect Picture ️️

A post shared by Sonam Weds Anand (@sonamkishaadi) on

लेकिन वहीं बात करें आनंद आहूजा के भाइयों की, फैमिली की, कज़न्स की, तो ये सभी लाइमलाइट से बहुत दूर रहे. साथ ही कुछ-एक वायरल वीडियोज़ में भी आनंद की फैमिली बिलकुल गायब दिखी. ऐसे में अब एक भी तस्वीर न होने पर भी कईं सवाल खड़े हो जाते हैं कि आखिर इस बात के पीछे की वजह है क्या है. क्योंकि इतने बड़े फंक्शन में दूल्हे की फैमिली का न दिखाई देना बी अपने आप में बड़ा सवाल है.

If You Like This Story, Support NYOOOZ

NYOOOZ SUPPORTER

NYOOOZ FRIEND

Your support to NYOOOZ will help us to continue create and publish news for and from smaller cities, which also need equal voice as much as citizens living in bigger cities have through mainstream media organizations.

अन्य बरेली ताजा समाचार पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें | देशभर की सारी ताज़ा खबरें हिंदी में
पढ़ने के लिए NYOOOZ HINDI को सब्सक्राइब करें|

Related Articles