बरेली में महिलाओं को लागत मूल्य पर ही ब्रिकी के लिए दिए जाएंगे सेनेटरी नैपकिन पैड

संक्षेप:

  • सीडीओ ने की अनूठी पहल
  • जल्द किया जाएगा स्वच्छता सखी सम्मेलन का आयोजन
  • लागत मूल्य पर ही ब्रिकी के लिए दिए जाएंगे सेनेटरी नैपकिन पैड

बरेली: अज्ञानता, अशिक्षा और रूढि़वादिता के चलते गांव-देहात की बहुत सी महिलाएं, खास दिनों में संक्रमण की गिरफ्त में आ जाती हैं। ऐसे में सीडीओ सत्येंद्र कुमार ने महिलाओं के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए अनूठी पहल की है।

प्रशासन महिला स्वयं सहायता समूह के जरिये पंचायत ग्रामोद्योग के दिशा नाम के सेनेटरी नैपकिन पैड की बिक्री गांव-गांव करा स्वच्छता की नई राह दिखाएगा। जल्द स्वच्छता सखी सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा। इसमें समूह की महिलाओं को मार्केटिंग के गुर सिखाने के साथ सेनेटरी पैड इस्तेमाल के फायदे समझाए जाएंगे।

पंचायत ग्रामोद्योग द्वारा तैयार सेनेटरी नैपकिन पैड के पैक स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को लागत मूल्य पर ही ब्रिकी के लिए दिए जाएंगे। जिन्हें खरीदने के लिए महिलाओं को एडवांस धनराशि नहीं देनी होगी। ब्रिकी के बाद माल की कीमत अदा करने की छूट मिलेगी। प्रति पैक ब्रिकी पर उन्हें कमीशन मिलेगा। जिसके चलते प्रतिमाह तीन से पांच हजार रुपये आमदनी कमा सकेंगी।

ये भी पढ़े : GST Council की बैठक में फैसला, सैनिटरी नैपकिन पर खत्म जीएसटी


फरीदपुर ब्लॉक के पांच स्वयं सहायता समूह सेनेटरी नैपकिन पैड की ब्रिकी के लिए आगे आए हैं। सीडीओ ने अन्य ब्लॉकों के समूह की महिलाओं को भी सेल्समैन बनने और स्वच्छता सखी सम्मेलन में प्रतिभाग करने केनिर्देश दिए हैं। पंचायत ग्रामोद्योग में दिशा नाम के सेनेटरी नैपकिन पैड तैयार हो रहे हैं। इस पर स्वच्छ भारत मिशन तथा राष्ट्रीय आजीविका मिशन का लोगो भी लगाया जाएगा।

सीडीओ सत्येंद्र कुमार का कहना है कि समूह की महिलाएं यदि पंचायत ग्रामोद्योग के दिशा सेनेटरी नैपकिन पैड की गांव-गांव ब्रिकी करती हैं तो उनकी आमदनी बढ़ेगी। वहीं, गांव की महिलाएं रूढि़वादी परंपराओं से आजाद होकर बीमारियों से बच सकेंगी। इनकी ब्रिकी के निर्देश दिए हैं।

अन्य बरेली ताजा समाचार पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें | देशभर की सारी ताज़ा खबरें हिंदी में
पढ़ने के लिए NYOOOZ HINDI को सब्सक्राइब करें|

Related Articles