वाह रे यूपी पुलिस! गैंगरेप मामले को छेड़छाड़ का मामला बताकर किया केस दर्ज

संक्षेप:

  • खेत में शौच के लिए गई महिला से गैंगरेप
  • पुलिस ने दर्ज किया सिर्फ छेड़छाड़ का मुकदमा
  • पीड़िता न्याय के लिए अधिकारियों के काट रही चक्कर

यूपी में अपराधों को गढ़ बनता जा रहा है, ऐसे में पुलिस भी सुस्त रवैय़ा अपनाएं हुए है। मामला शाहजहांपुर से सामने आ रहा है, जहां एक गैंगरेप के मामले को पुलिस का महज छेड़छाड़ का मामला बताते हुए दर्ज कर लिया है। आरोप है कि कोतवाल ने पीड़िता को धमका कर तहरीर बदलवाई। पीड़िता की शादी एक माह पहले ही हुई थी, इस घटना के बाद ससुराल वालों ने उसे ले जाने से इंकार कर दिया है। अब पीड़िता न्याय के लिए अधिकारियों के चक्कर काट रही है और आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई न होने पर आत्महत्या की बात कह रही है।

जानकारी के मुताबिक, मामला थाना कांट क्षेत्र का है, जहां रहने वाली इस पीड़िता की शादी एक महीने पहले ही हुई थी। महिला का अरोप है कि तीन दिन पहले वो खेत में शौच को जा रही थी तभी गांव के तीन दबंगों नरवीर यादव सत्यवीर यादव और तीसरा भी सत्यवीर यादव ने मिलकर पहले नव विवाहिता को पकड़कर उसे खेत में ले गये। उसके बाद पीड़िता के मुंह में कपड़ा ठूंसकर उसके साथ बारी-बारी से बलात्कार किया गया।

पीड़िता का आरोप है कि जब पीड़िता ने आरोपियों का विरोध किया तो उन्होंने उसकी बेरहमी से पिटाई की गई और उसके पेट पर लाते मारी गई जिससे उसकी हालत बिगड़ गई। आरोपी पीड़िता को पुलिस में शिकायत ना करने की धमकी देते हुए फरार हो गये। पीड़िता ने पूरी घटना अपने परिवार वालों को बताई। थाने पहुंचने पर गैंगरेप की तीनों आरोपियों के खिलाफ तहरीर दी गई। आरोप है कि कोतवाल ने आरोपियों के साथ मिलकर पीड़िता की तहरीर बदलवा दी और गैंगरेप की घटना को महज छेड़छाड़ और मारपीट में ही दर्ज कर ली।

ये भी पढ़े : कुशीनगर: पिता ने की पत्नी समेत दो बच्चों की हत्या और फिर की खुदकुशी


आरोप है कि पुलिस ने पीड़िता के साथ आर्थिक समझौता करके उन पर कोई कार्रवाई नहीं की। फिलहाल, पीड़िता आरोपियों के खिलाफ गैंगरेप की कार्यवाही करने की मांग को लेकर थाने के बाहर बैठी है। कार्यवाही ना होने पर पीड़िता ने आत्महत्या की धमकी दी है। पुलिस की माने तो पीड़िता की तहरीर के आधार पर ही मुकदमा दर्ज किया गया है और पीड़िता के 161 में बयान भी करवाए जा रहे है। लेकिन पीड़िता ने अधिकारियों को गैंगरेप वाली उस तहरीर को भी सौंपा है जो सबसे पहले दी गई थी। लेकिन बेशर्म पुलिस छेड़छाड़ की रिपोर्ट दर्ज करके अपनी ही पीठ थपथपा कर आरोपियों को ही बचाने में जुटी है।

अन्य बरेली ताजा समाचार पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें | देशभर की सारी ताज़ा खबरें हिंदी में
पढ़ने के लिए NYOOOZ HINDI को सब्सक्राइब करें|

Related Articles