सावधान! देहरादून में एटीएम क्लोन से उड़ाये जा रहे लाखों रुपये

संक्षेप:

  • एटीएम कार्ड बना लोगों के मुसीबत का कारण
  • कार्ड से लाखों रुपये उड़ाने का मामला आया सामने
  • पुलिस कर रही जांच

देहरादून: एटीएम कार्ड ने लोगों को जहां सुविधाएं दी हैं वहीं, ये मुसीबत का कारण भी बन रहे हैं। दो दिनों में दून के 26 लोगों के खातों से एटीएम क्लोन के जरिये लाखों रुपये उड़ा देने का मामला सामने आया है जिसने पुलिस के भी होश उड़ा दिये हैं।

जालसाजों तक पहुंचने के लिए पुलिस पूरे दिन शहर के एटीएम और वहां लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगालती रही, लेकिन कोई खास सुराग हाथ नहीं लगा। एसबीआई, पीएनबी समेत अन्य बैंकों के जिन खाताधारकों के रुपये निकले हैं, घटना के वक्त उन सभी के एटीएम कार्ड उनके पास ही मौजूद थे।

इसके बाद भी जब उन्हें खाते से रुपये निकलने की सूचना मिली तो वह चौंक गए। इनमें से एक दर्जन के करीब लोगों ने रात में ही नेहरू कॉलोनी थाने को सूचना दे दी थी और अपना एटीएम कार्ड भी ब्लॉक करा दिया।

जाहिर है कि लोगों के एटीएम कार्ड के क्लोन बनाने के लिए एटीएम मशीन में खुफिया कैमरे व मिनी स्कैनर आदि लगाए गए होंगे। मगर तलाशी के बाद भी किसी एटीएम से ऐसा कोई प्रमाण नहीं मिला। ऐसे में पुलिस ने आशंका जताई है कि आरोपियों ने कुछ दिन पहले एटीएम में छेड़छाड़ कर डाटा चुराया होगा। इसके बाद वह इसे लेकर जयपुर चले गए। जहां से शुक्रवार शाम से शनिवार सुबह तक ट्रांजेक्शन किए गए।

एसएसपी निवेदिता कुकरेती ने बताया कि आमतौर पर एटीएम में कार्ड एंट्री प्वाइंट पर हमेशा लाइट जलती रहती है। लेकिन, स्कैनर लगाने के बाद यह लाइट नहीं जलती है। ऐसी स्थिति में अलर्ट हो जाएं और तत्काल पुलिस को सूचना दें। इसके अलावा एटीएम कक्ष में प्रवेश करने के बाद आसपास बारीकी से निगाह दौड़ाकर यह सुनिश्चित कर लें कि कहीं हिडेन कैमरा आदि न लगा हो। 

जिस तरह खातों से रकम निकाली गई है, उससे कार्ड का क्लोन तैयार किए जाने की आशंका से इन्कार नहीं किया जा सकता। जयपुर के लिए टीम रवाना कर दी गई है। वहां की साइबर क्राइम ब्रांच से भी जानकारी साझा की गई है।

यूपी बोर्ड की 10वीं और 12वीं का रिजल्ट देखने के लिए यहां करें क्लिक

Read more Dehradun Hindi News here. देशभर की सारी ताज़ा खबरें हिंदी में पढ़ने के लिए
NYOOOZ HINDI को सब्सक्राइब करें

Related Articles