प्रदेश में भारी बारिश की चेतावनी, अलर्ट पर शासन-प्रशासन

संक्षेप:

  • मौसम विभाग ने जारी की भरी बारिश की चेतावनी
  • सीएम और मुख्य सचिव लगातार कर रहे समीक्षा
  • भारी बारिश से निपटने के लिए पूरी तैयारी

देहरादूनः शासन-प्रशासन ने प्रदेश में भारी बारिश की संभावनाओं को देखते हुए अलर्ट पर है। मौसम विभाग की तरफ से भारी बारिश की चेतावनी के मद्देनजर मुख्यमंत्री और मुख्य सचिव स्तर पर लगातार समीक्षाएं की जा रही हैं। जिससे बारिश के समय में सभी समस्याओं से निपटा जा सके।

आपदा प्रबंधन विभाग के सचिव अमित नेगी ने बताया कि प्रदेश में भारी बारिश को देखते हुए शासन-प्रशासन अलर्ट है। हालांकि वर्तमान में स्थिति सामान्य है। मुख्यमंत्री और मुख्य सचिव सहित विभिन्न स्तरों पर लगातार समीक्षाएं करते हुए सभी आवश्यक तैयारियां की गई हैं।

प्रदेश में विभिन्न मार्गों पर भूस्खलन की दृष्टि से अति संवेदनशील क्षेत्रों को चिन्हित करते हुए आवश्यक संख्या में जेसीबी, पॉकलैंड मशीनें मेनपावर सहित तैनात की गई हैं। जिससे कहीं भी मार्ग बाधित होने पर तुरंत खोला जा सके।

ये भी पढ़े : हरिद्वार में लगने वाले महाकुंभ के लिए तैयारियां शुरू, सीएम बोले- ऐतिहासिक होगा मेला


वहीं, राजमार्गों पर जहां क्रॉनिक लैंडस्लाइड जोन चिन्हित किए गए हैं, वहां वैकल्पिक ट्रेक रूट भी बनाए गए हैं। दोनों तरफ वाहनों की व्यवस्था करते हुए ट्रांसशिपमेंट की भी तैयारी है। चार धाम यात्रा मार्ग पर शेल्टर प्वाइंट चिन्हित हैं, जहां आवश्यक होने पर यात्रियों को सुरक्षित रोका जा सके। तहसील स्तर तक आपदा राहत के लिए आवश्यक उपकरण उपलब्ध कराए गए हैं।

सचिव ने कहा कि कैलास मानसरोवर यात्रा में जाने वाले सभी यात्री पूरी तरह से सुरक्षित हैं। हमारी कोशिश है कि किसी भी परिस्थिति में सूचना व संचार तंत्र बरकरार रहे। उत्तराखंड उन राज्यों में है, जहां आपदा प्रबंधन के लिए सर्वाधिक संख्या में सैटेलाइट फोन का उपयोग किया जा रहा है।

हमारे पास इस समय 74 सैटेलाइट फोन है, जो कि जिलाधिकारियों को उपलब्ध कराए गए हैं। दो हेलीकॉप्टर की व्यवस्था की जा रही है। इनमें से एक हेलीकॉप्टर गढ़वाल के लिए और एक हेलीकॉप्टर कुमाऊं के लिए होगा।

 

 

Read more Dehradun Hindi News here. देशभर की सारी ताज़ा खबरें हिंदी में पढ़ने के लिए
NYOOOZ HINDI को सब्सक्राइब करें

Related Articles