Deoghar : 148 दिनों बाद आम श्रद्धालुओं के लिए खुले बाबा मंदिर के पट, दर्शन करने से पहले जान लें ये जरूरी बातें

Jharkhand News, Deoghar News देवघर : झारखंड सरकार ने शर्तों के साथ धार्मिक स्थल खोलने की अनुमति दे दी है. इसी कड़ी में आज राज्य के सबसे प्रसिद्ध धार्मिक स्थल में से में एक बाबा मंदिर का पट आज श्रद्धालुओं के लिए 148 दिनों बाद खुल गया है. सुबह में जैसे ही मंदिर के दरवाजे खुले लोगों के चेहरे में मुस्कान आ गयी और बाबा भोलेनाथ के जलाभिषेक और पूजा अर्चना के लिए उमड़ पड़े.गौरतलब है कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण की वजह से मंदिर बंद था, लेकिन जैसे राज्य और जिले में कोरोना के मामले कम हुए, लोग मंदिर को खोलने की मांग करने लगे थे. क्यों कि जिले की अर्थव्यवस्था के सबसे मुख्य स्रोत बाबा मंदिर है. क्यों कि यहां हर साल लाखों की संख्या में श्रद्धालु भगवान भोले नाथ के दर्शन के लिए आते हैं. हालांकि मंदिर के दरवाजे खुलने से अब जिले की चरमरायी अर्थव्यवस्था सुधरने की उम्मीद है.मंदिर के पट आम आम श्रद्धालुओं के लिए खुलने के बाद अब सवाल ये उठता है कि बाबा के दर्शन की समयावधि कब से कब तक रहेगा. तो आपको हम बता दें कि इसकी समयावधि सुबह 6 बजे से शाम 4 बजे तक का होगा. मंदिर में प्रवेश के लिए श्रद्धालु वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन इंट्री पास प्राप्त कर सकते हैं, बिना इ पास के कोई भी श्रद्धालु पूजा अर्चना नहीं कर सकते हैं. आपको बता दें कि 18 साल से कम उम्र के लोगों को मंदिर में एंट्री नहीं मिलेगी.बता दें कि आप भी अगर पूजा अर्चना के लिए बाबा भोले नाथ के दर्शन करने जाना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले http://jharkhanddarshan.nic.in के माध्यम से ऑनलाइन इंट्री पास प्राप्त कर दर्शन कर सकते हैं. इसके लिए वेबसाइट के लिंक पर सबसे पहले आपको जाना होगा. इस लिंक पर जाते ही राज्य सरकार का झारखंड दर्शन पेज खुल जायेगा. इसमें देवघर के बाबा बैद्यनाथ, दुमका के बाबा बासुकिनाथ, रामगढ़ के मां छिन्नमस्तिके मंदिर और चतरा के मां भद्रकाली मंदिर में व्यक्तिगत और परिवार संग दर्शन करने का ऑप्शन आयेगादेवघर के बाबा मंदिर के व्यक्तिगत या परिवार बुकिंग के ऑप्शन में क्लिक करें. क्लिक करते ही एक पेज खुलेगा. इसमें अपनी जानकारी भरनी होगी. इसके तहत दर्शन की तिथि, समय, दर्शनार्थी का राज्य, जिला, पंडा का नाम (यदि उपलब्ध हो), मोबाइल नंबर और ID प्रूफ देना होगा. इन सभी जानकारी को भरने के बाद अगले पेज के लिए क्लिक करना होगा. इसे क्लिक करते ही E-Pass का दर्शन स्लिप प्राप्त होगा.- आप एक सप्ताह पहले एडवांस में भी E-Pass बुक कर सकते हैं- एक व्यक्ति को सप्ताह में एक E-Pass ही मिलेगा- E-Pass में अंकित दर्शन की तिथि और समय के बाद आने पर दर्शन की अनुमति नहीं होगी- गर्भवती महिला या अन्य किसी बीमारी से पीड़ित व्यक्ति को दर्शन की अनुमति नहीं होगी- 18 साल से ऊपर के व्यक्ति को ही बाबा भोलेनाथ दर्शन करने की अनुमति होगी- मंदिर में बाबा का दर्शन करने के लिए मास्क पहनना और सोशल डिस्टैंसिंग का हर हाल में पालन करना होगा- दर्शनार्थियों को बाबा मंदिर प्रबंधन के साथ सहयोग करना होगा- कोरोना वैक्सीन का पहला डोज लेने वाले दर्शनार्थियों को ही मंदिर में आने की अनुमति होगी.Posted by : Sameer Oraon।

If You Like This Story, Support NYOOOZ

NYOOOZ SUPPORTER

NYOOOZ FRIEND

Your support to NYOOOZ will help us to continue create and publish news for and from smaller cities, which also need equal voice as much as citizens living in bigger cities have through mainstream media organizations.

डिसक्लेमर :ऊपर व्यक्त विचार इंडिपेंडेंट NEWS कंट्रीब्यूटर के अपने हैं,
अगर आप का इस से कोई भी मतभेद हो तो निचे दिए गए कमेंट बॉक्स में लिखे।