JPSC Exam 2021: जेपीएससी PT परीक्षा में GS पेपर के 3 प्रश्न पर उठे सवाल,एक्सपर्ट ने सवाल के विकल्प बताये गलत

JPSC Exam 2021 (रांची) : झारखंड लोक सेवा आयोग (Jharkhand Public Service Commission- JPSC) द्वारा 252 पदों के लिए चार सिविल सेवा की प्रारंभिक परीक्षा (PT) रविवार को संपन्न हुई. इस परीक्षा के प्रथम पाली में जनरल स्टडीज के इतिहास और करेंट अफेयर पेपर में तीन प्रश्न पर परीक्षार्थी समेत एक्सपर्ट ने सवाल उठाये हैं.तीन प्रश्नों के गलत विकल्प के बारे में बताया गया कि एक सवाल गलत तरीके से पूछा गया, तो दूसरे सवाल का क्रम गलत था और तीसरे सवाल में विकल्प गलत दिया गया था. पहली पाली में बुकलेट बी में इन तीनों प्रश्नों के विकल्प को गलत बता कर परीक्षार्थी समेत एक्सपर्ट सवाल उठा रहे हैं.बुकलेट B में तीन सवाल जो दिये गये हैं उसमें 48 नंबर सवाल में पूछा गया है कि ह्यूमन राइट कमीशन के वर्तमान चेयरमैन कौन हैं. इसे विकल्प B में एचएल दत्तू दिया गया है, जबकि वर्तमान चेयरमैन एके मिश्रा हैं जो कि विकल्प में है ही नहीं. वहीं, दूसरा 54 नंबर का सवाल था निम्नलिखित में से किस परमाणु ऊर्जा संयंत्र की स्थापित क्षमता सर्वाधिक है. जवाब में कुंडाकुलम होना चाहिए था जिसको विकल्प में शामिल नहीं किया गया है. वहीं, तीसरा सवाल इतिहास में क्रम बनाने का था जिसका विकल्प ADCB होना चाहिए था जो भी विकल्प में नहीं था.इस संदर्भ में एक अभ्यर्थी से जब पूछा गया, तो उसने बताया कि ये तीन सवाल में मेरे साथ कई अभ्यर्थियों को भी संदेह था. वहीं, एक्सपर्ट भी मानते हैं कि जनरल स्टडीज के इतिहास और करेंट अफेयर के पेपर में पूछे गये तीन सवाल का विकल्प गलत है.इस संबंध में DSPMU के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ अशोक नाग का कहना है कि JPSC के पहली सीटिंग के बुकलेट B में तीन सवाल में अलग-अलग गलती नजर आ रही है. ऐसे में अभ्यर्थियों को इन सवालों के हल को लेकर काफी माथाचप्पी हुई होगी. विकल्प में इन प्रश्नों के जवाब ही गलत दिये गये हैं.मालूम हो कि JPSC द्वारा 252 पदों के लिए 4 सिविल सेवा की परीक्षा रविवार को ली गयी. इसके तहत 7वीं, 8वीं, 9वीं और 10वीं की प्रारंभिक परीक्षा की पीटी परीक्षा आयोजित हुई. कुल 3,69,327 परीक्षार्थियों के लिए राज्य के 24 जिलों में 1102 परीक्षा केंद्र बनाये गये थे. पहली पाली की परीक्षा सुबह 10 बजे से दोपहर 12 बजे तक हुई, वहीं दूसरी पाली दोपहर 2 बजे से 4 बजे तक आयोजित हुई.Posted By : Samir Ranjan. ।

If You Like This Story, Support NYOOOZ

NYOOOZ SUPPORTER

NYOOOZ FRIEND

Your support to NYOOOZ will help us to continue create and publish news for and from smaller cities, which also need equal voice as much as citizens living in bigger cities have through mainstream media organizations.

डिसक्लेमर :ऊपर व्यक्त विचार इंडिपेंडेंट NEWS कंट्रीब्यूटर के अपने हैं,
अगर आप का इस से कोई भी मतभेद हो तो निचे दिए गए कमेंट बॉक्स में लिखे।