गाजियाबाद: मोरध्वज हत्याकांड का खुलासा, दो आरोपी गिरफ्तार

संक्षेप:

  • पुलिस ने मोरध्वज हत्याकांड का किया खुलासा
  • तमंचा, कारतूस और बाइक की बरामद
  • बदला लेने के लिए की थी हत्या

गाजियाबाद पुलिस ने मोरध्वज हत्याकांड का खुलासा करते हुए बड़ी सफलता हासिल की है। पुलिस ने दो आरोपियों का गिरफ्तार कर इनके पास से तमंचा, कारतूस और बाइक बरामद की है। लोनी पुलिस का कहना है कि आरोपियों से एक जुलाई को शाम के वक्त स्थानीय थाना क्षेत्र के जावली निवासी नौरंग पुत्र शिशुपाल से किसी बात को लेकर सामुदायिक भवन के पास तीखी बहस हुई। इस दौरान आरोपी तनवीर का चिर प्रतिदंद्वी चाचा वहीं मौजूद था।

इससे तनवीर को काफी बेइज्जती महसूस हुई। जिसका बदला लेने के लिए तनवीर कसाना ने अपने दोस्त माण्डला निवासी मनीष पुत्र जगमाल के साथ योजना बनाई। इसके तहत आरोपियों ने नौरंग को मारने के लिए आरोपी राम विहार मंगल बाजार पहुंचे। वहीं अपने साथी के साथ नौरंग भी ठहरा हुआ था। सीओ दुर्गेश कुमार ने बताया कि मंगल बाजार में पैंतरेबाजी करते हुए बदमाशों ने नौरंग को घेर लिया। इस पर नौरंग हक्का-बक्का रह गया। इसी बीच तनवीर ने बेइज्जती करने का अंजाम भुगतने की चेतावनी देते हुए नौरंग पर फायर झोंक दिया।

इस दौरान नौरंग ने खुद के बचाव के लिए तनवीर के हाथ पर वार कर दिया जिससे गोली की दिशा बदल गई और वहां मौजूद सब्जी विक्रेता मोरध्वज निवासी आदेश नगर बन्थला को गोली लगी। इससे वहां हड़कंप मच गया। इसके बाद आरोपियों ने फिर नौरंग पर तमंचे की बट से ताबड़तोड़ वार किया जिसमें वह लहूलूहान हालात में वहीं गिर पड़ा।

ये भी पढ़े : जानिए एसबीआई ने परीक्षार्थियों को क्यों किया आगाह


सब्जी विक्रेता की हत्या मामले को उजागर करने के लिए एसएसी वैभव कृष्णा ने लोनी थाना प्रभारी उमेश कुमार पांडेय को कड़े निर्देश दिए थे। जिसके बाद अशोक विहार चौकी प्रभारी अभयवेंद्र सिंह की अगुवाई में दोनों आरोपियों को दबोच लिया गया। हत्या की संगीन धाराओं में केस दर्ज कर जेल भेज दिया गया है।

 

Read more Ghaziabad News In Hindi here. देशभर की सारी ताज़ा खबरें हिंदी में पढ़ने
के लिए NYOOOZ HINDI को सब्सक्राइब करें |

Related Articles