मायके से बेटे के इलाज के मांगे पैसे, तो पति ने दिया तलाक

संक्षेप:

  • हापुड़ से सामने आया तीन तलाक का मामला
  • मायके से बेटे के इलाज के पैसे
  • पता चलने पर पति ने दिया तलाक

हापुड़ - सुप्रीम कोर्ट ने तीन तलाक को भले ही गैरकानूनी करार दे दिया हो, लेकिन देश में लगभग हर रोज ट्रिपल तलाक के मामले सामने आ रहे हैं। ऐसा ही एक मामला हापुड़ से सामने आया है, जहां एक महिला को उसके पति ने मायके में रहने और खर्च के लिए पैसे मांगने पर तीन तलाक दे दिया है।

बताया जा रहा है कि पीड़ित महिला अपने बेटे के इलाज के लिए मायके में रह रही थी। महिला ने इस मामले में न्याय के लिए पुलिस से गुहार लगाई है। पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, मोहल्ला मजीदपुरा में रहने वाली मोसिना का निकाह तीन साल पहले गांव सरावा के नदीम से हुआ था। कुछ दिन पहले ये दोनों काम के सिलसिले में गाजियाबाद के डासना में रहने लगे थे। यहां नदीम की दुकान है।

मोसिना ने आरोप लगाया कि ससुराल वाले उससे आए दिन दहेज की मांग किया करते थे। महिला ने बताया कि बेटे के इलाज के कारण पिछले एक महीने से वह हापुड़ में रह रही थी। उसके 14 महीने के बेटे को खून की कमी है और हापुड़ में उसका इलाज चल रहा है। हापुड़ के एएसपी राममोहन सिंह ने बताया कि पीड़िता गुरुवार की शाम पुलिस के पास आई और बताया कि उसके पति ने उसे तीन तलाक बोलकर छुटकारा पा लिया है।

ये भी पढ़े : ट्रेन पकड़ने के चक्कर में बुजुर्ग का फिसला पैर, RPF ने बचा ली जान

महिला ने बताया कि बेटे के इलाज के लिए पैसे नहीं देने के कारण वह मायके में रहकर बेटे का इलाज करा रही थी। महिला ने बताया कि उसका पति बृहस्पतिवार को अपनी ससुराल पहुंचा और उसे तीन बार तलाक बोल दिया। शाम के समय पीड़िता अपने भाइयों के साथ थाने पहुंची और तहरीर दी। पीड़िता ने आरोप लगाया कि उसका पति उसके साथ आए दिन मारपीट भी किया करता था। पुलिस ने दहेज उत्पीड़न का मामला दर्ज मामले की जांच शुरू कर दी है।

Read more Ghaziabad News In Hindi here. देशभर की सारी ताज़ा खबरें हिंदी में पढ़ने
के लिए NYOOOZ HINDI को सब्सक्राइब करें |

Related Articles