मुन्ना बजरंगी की हत्याः पैसे के लिए जेल में पान-गुटखा की दुकान चलाने का इस जेलर पर आरोप, हत्या के वक्त यहां था तैनात

मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद निलंबित किए गए बागपत के जेलर उदय प्रताप सिंह पहले ही सुर्खियों में रह चुके हैं।

कैदियों से वसूली, राशन बेचने, जेल में पान-गुटखा बेचवाने के आरोप में वह पहले भी सस्पेंड किए जा चुके हैं।

तब वह गोरखपुर में तैनात थे।

बीजेपी की प्रदेश में सरकार बनते ही गोरखपुर जेल में छापामारी हुई थी।

इस छापामारी में तत्कालीन जेलर यूपी सिंह पर कई प्रकार के अनियमितता के आरोप लगे थे।

शासन को रिपोर्ट मिलने के बाद उनको तत्काल सस्पेंड कर दिया गया था।

अप्रैल 2017 में गोरखपुर जेल में गोरखपुर रेंज के उप महानिरीक्षक जेल यादवेंद्र शुक्ल ने जिला जेल में छापा मारा था।

डिसक्लेमर :ऊपर व्यक्त विचार इंडिपेंडेंट NEWS कंट्रीब्यूटर के अपने हैं,
अगर आप का इस से कोई भी मतभेद हो तो निचे दिए गए कमेंट बॉक्स में लिखे।

अन्य गोरखपुर ताजा समाचार पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें | देशभर की सारी ताज़ा खबरें
हिंदी में पढ़ने के लिए NYOOOZ HINDI को सब्सक्राइब करें |

Related Articles