15 मार्च से शुरू होंगी गोरखपुर विश्वविद्यालय की परीक्षाएं

संक्षेप:

  • कड़े बंदोबस्त के बीच 15 से शुरू होंगी विवि परीक्षाएं
  • पहली बार सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में होगी परीक्षा
  • नकल करते पकड़े जाने पर होगी तीन महीने की जेल

गोरखपुर : पंडित दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय की वार्षिक परीक्षाओं के लिए तैयारियां लगभग हो गई हैं। विवि की परीक्षा 15 मार्च से शुरू हो रही, तो वहीं हाल के दशकों में यह पहला अवसर है कि जब परीक्षाओं के लिए पर केंद्रीय व्यवस्था पर अमल किया जा रहा है तो सीसीटीवी की निगरानी में पूरी परीक्षा कराने का भी यह पहला निर्णय है।

यही नहीं केंद्राध्यक्षों द्वारा अलग-अलग कारणों से जिम्मेदारी संभालने से इन्कार करने से हो रही समस्या पर विश्वविद्यालय प्रशासन सख्त रुख अख्तियार कर रहा है। तैयारी है कि अगर परीक्षा काल किसी केंद्र पर केंद्राध्यक्ष अवकाश लेता है तो संबंधित कालेज प्रशासन को ही नए केंद्राध्यक्ष बाबत नाम देना होगा। ऐसा न होने पर संबंधित केंद्र की सभी परीक्षाएं दूसरे केंद्र पर कराई जाएंगी।

विश्वविद्यालय अपनी ओर से कोई केंद्राध्यक्ष तैनात नहीं करेगा। गोरखपुर विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक डा. अमरेंद्र सिंह ने बताया कि शुचिता पूर्ण नकलविहीन परीक्षा के लिए कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। केंद्राध्यक्षों को इस बाबत स्पष्ट निर्देश दिए जा चुके हैं। विश्वविद्यालय प्रशासन परीक्षा के दौरान हर समस्या के निराकरण के लिए हमेशा तत्पर है, लेकिन केंद्राध्यक्ष यह सुनिश्चित करेंगे कि परीक्षा नकल विहीन ही हो।

ये भी पढ़े : 7 शहरों में 28 जून को होगी दून विश्वविद्यालय की प्रवेश परीक्षा


परीक्षाओं में नकल करना और कराना महंगा पड़ेगा। पिछले वर्ष की ही तर्ज पर इस साल भी विश्वविद्यालय परीक्षाओं में उत्तर प्रदेश सार्वजनिक परीक्षा (अनुचित साधनों का निवारण अधिनियम)1998 प्रभावी रहेगा। इसके तहत नकल करते हुए पकड़े जाने पर तीन माह की जेल हो सकती है, जबकि नकल कराने वालों को एक साल की जेल की सजा भुगतनी होगी। नकल करते पकड़े गए परीक्षार्थियों को जमानत दिए जाने का प्रावधान है, जबकि अन्य के खिलाफ गैर जमानती धाराओं में मुकदमा पंजीकृत होगा।

अन्य गोरखपुर ताजा समाचार पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें | देशभर की सारी ताज़ा खबरें
हिंदी में पढ़ने के लिए NYOOOZ HINDI को सब्सक्राइब करें |

Related Articles