ट्रांसपोर्टर की मौत का मामला: कांग्रेस का कैंडल मार्च

संक्षेप:

  • बीजेपी दफ्तर में जहर खाने से कारोबारी की हुई मौत पर गरमाई सियासत
  • कांग्रेस ने राज्य सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा
  • कैंडल मार्च निकाल कर किया प्रदर्शन

हरिद्वारः बीजेपी दफ्तर में छह जनवरी को कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल के जनता दर्शन कार्यक्रम के दौरान जहर खाने वाले कारोबारी की मौत के बाद उत्तराखंड में हाहाकर मच गया है। कांग्रेस ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। कांग्रेस ने प्रदेश की त्रिवेंद्र सिंह रावत के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करना शुरू कर दिया है। जिससे तहत कांग्रेस ने धर्मनगरी हरिद्वार में शुक्रवार को कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बड़ी संख्या में भगत सिंह चौक पर इकट्ठा होकर चंद्राचार्य चौक तक कैंडल मार्च निकाल कर ट्रांसपोर्ट व्यवसायी प्रकाश पांडेय की आत्मा की शांति के लिए मौन रखा।

 और राज्यपाल से राज्य सरकार को तत्काल भंग करने की मांग की। कांग्रेस नेताओं ने सरकार पर आरोप लगाया कि यह सरकार जन विरोधी सरकार है। इस सरकार के मंत्री प्रदेश लोगों के लिए काम करने के बजाय केवल बयानबाजी करते। कांग्रेस नेताओं ने आगे कहा कि अगर राज्य सरकार समय से ट्रांसपोर्ट व्यवसायी प्रकाश पांडे को सही इलाज उपलब्ध करा देती।

तो आज प्रकाश पांडेय जीवित रहता। केंद्र और राज्य सरकार की गलत नीतियों के चलते ही ट्रांसपोर्ट व्यवसायी प्रकाश पांडेय की मौत हुई है और राज्य की बीजेपी सरकार पूरी तरह से उनकी मौत के लिए दोषी है। साथ ही कांग्रेस नेताओं ने प्रकाश पांडेय को न्याय दिए जाने। उनकी मौत की न्यायिक जांच के साथ उनके परिवार वालों को आर्थिक सहायता दिए जाने की मांग की। 

ये भी पढ़े : जहरीली शराब कांडः वालों की संख्या हुई 11, अखिलेश ने उठाए सवाल

Read more Haridwar News in Hindi here. देशभर की सारी ताज़ा खबरें हिंदी में पढ़ने के
लिए NYOOOZ HINDI को सब्सक्राइब करें |

Related Articles