हरिद्वार के डीएम दीपक रावत ने नाले के किनारे खड़े होकर की बड़ी कार्रवाई

संक्षेप:

  • एक बार फिर एक्शन में हरिद्वार के डीएम
  • नालों का किया निरीक्षण
  • पॉलीथिन के खिलाफ चलाया अभियान

हरिद्वार: हरिद्वार के डीएम दीपक रावत ने आज शहर में गंदे नालों, सीवरेज आदि की शिकायत मिलने पर ऋषिकुल एवं हर की पैड़ी क्षेत्र का स्थलीय निरीक्षण किया। डीएम ने ऋषिकुल टंकी नम्बर 6 के पास बह रहे नाले का पानी टेपिंग के अभाव में गंगा में बहता पाया। साथ ही नाले के पानी को पम्पिंग स्टेशन के माध्यम से जगजीतपुर एसटीपी भेजने के लिए स्टेशन तो बनाया गया परन्तु स्टेशन को वर्किंग भी नहीं रखा गया जिसकी वजह से नाले की स्पलाई गंगा चैनल में होती दिखी। जिस पर डीएम ने एई जल संस्थान राजेश कुमार चैहान मायापुर क्षेत्र के विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई की। यही नहीं हरिद्वार से इनकी स्थानांतरण की बात भी कही।

भौतिक रूप से जांचने पर जिलाधिकारी ने पाया कि नाले का मात्र टेपिंग स्ट्रक्चर ही निर्मित किया गया, जबकि अधिकारी नाला टैप कर दिये जाने की गलत जानकारी डीएम को दे रहे थे। डीएम ने इन अधिकारियों को फटकार लगाते हुए कहा कि टेपिंग से छूटे नालो टैप किये जाने का कार्य नमामि गंगे योजना के माध्यम से किया जाना है, लेकिन अधिकारी गलत जानकारी देकर सही ढंग से काम होेने में बाधा पहुंचा रहे हैं। उक्त नाला कागजों में टैप हो चुका दर्शाया गया है।

डीएम ने हरकी पैड़ी पर चोटीवाला होटल संचालक द्वारा होटल का गंदा पानी कूड़ा सहित नाली के माध्यम से सीवेज में बहता पाया गया। इस कूड़े की वजह से रोजाना सीवर चोक होकर गटर के उबलने से गंदा पानी हर की पैड़ी पर फैल रहा था। लोगों द्वारा की गयी शिकायत पर संज्ञान लेते हुए जिलाधिकारी ने उक्त होटल स्वामी पर निगम के माध्यम से 15 हजार का जुर्माना वसूला। साथ ही चेतावनी दी कि दोबारा पाये जाने पर सीज किया जायेगा। डीएम ने निर्र्देश दिये कि नगर निगम से दो कार्मिक हर की पैड़ी क्षेत्र के होटल आदि की जांच करेंगे कि कहां कूड़ा व गंदगी निस्तारण किया जा रहा है।

ये भी पढ़े : अब घटेगी आपकी ‘इन हैंड सैलरी’, सरकार ला रही नए नियम!


इसके बाद जिलाधिकारी ने ज्वालापुर कटहरा बाजार में पॉलीथिन के सप्लायर अल्फा प्लास्टिक के स्वामी राकेश द्वारा कटहरा बाजार मस्जिद में गोदाम बनाकर स्पलाई करते रंगे हाथ पकड़ा। मस्जिद के गोदाम में भारी मात्रा में पाॅलीथीन बरामद की गयी। उक्त गोदाम व दुकान को सीज कर दिया गया है।

छापेमारी के दौरान नगर आयुक्त नगर निगम नितिन भदौरिया सिटी मजिस्ट्रेट मनीष सिंह सहित जल संस्थान के अधिशासी अभियंता नरेश पाल, गंगा प्रदूषण के अधिशासी अभियंता राजीव जैन, पेयजल निगम एई आर एस गुप्ता, जल संस्थान के एई राजेश कुमार उपस्थित रहे।

Read more Haridwar News in Hindi here. देशभर की सारी ताज़ा खबरें हिंदी में पढ़ने के
लिए NYOOOZ HINDI को सब्सक्राइब करें |

Related Articles