ामरण अनशन खत्म, धरना रहेगा जारी

संक्षेप:

संवाद सूत्र, नारसन : उत्तर प्रदेश और हरियाणा का गन्ना रोकने और सरकार पर किसानों की उपेक्षा का आरोप लगाते हुये भाकियू का धरना 17 वें दिन भी जारी रहा। दूसरे दिन भी चारों किसान आमरण अनशन पर डटे रहे और सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। देर शाम ज्वाइंट मजिस्ट्रेट नितिका खंडेलवाल और पुलिस क्षेत्राधिकारी एसके ¨सह ने वहां पहुंचकर आमरण अनशन पर बैठे किसानों से वार्ता की। भाकियू के गढ़वाल मंडल अध्यक्ष संजय चौधरी ने जवाब दिया कि चीनी मिल मनमानी कर रहा है। बाहर का गन्ना खरीदा जा रहा है। किसानों के गन्ने का भुगतान नहीं किया जा रहा है। इस पर जेएम ने चीनी मिल के महाप्रबंधक लोकेंद्र लांबा को फटकार लगाई और किसानों की समस्या को हल करने के निर्देश दिए। इसके बाद जेएम ने आमरण अनशन पर बैठे किसान चंद्रपाल बालियान, गय्यूर हसन, महाराज ¨सह और संजीव को जूस पिलाकर उनका आमरण अनशन समाप्त कराया। किसानों ने एलान किया कि आमरण अनशन खत्म हुआ है। धरना तब तक जारी रहेगा, जब तक उनकी सभी समस्याएं हल नहीं हो जाती है। इससे पूर्व सुबह किसानों ने आरोप लगाया कि मौजूदा सरकार और चीनी मिल प्रबंधन पूरी तरह से मनमानी पर उतर आया है। किसान अब आर-पार की लड़ाई लड़ेंगे। आमरण अनशन पर बैठे किसान चंद्रपाल बालियान ने कहा कि देश और प्रदेश के अंदर समस्याओं से ग्रस्त किसान अपना सम्मान और स्वाभिमान बचाने के लिए आत्महत्या को मजबूर है, इसके बावजूद सरकार को इसकी कोई ¨चता नहीं है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री किसानों की समस्याओं को लेकर गंभीर नहीं है। सरकार का जो रवैया है, उसे देखकर तो यही लगता है कि यह सरकार किसानों के बजाय चीनी मिलों के हितों की रक्षा करने के लिए बनी है, लेकिन सरकार जब तक उनकी मांग नहीं मान लेती, तब तक वह भी आंदोलन को समाप्त नहीं करेंगे। जिला महामंत्री अर¨वद राठी ने कहा कि किसान परेशान और दुखी होकर सड़कों पर है लेकिन यह सरकार उनकी समस्याओं को लेकर गंभीर नहीं है। किसान को धोखा देकर 2014 और 2017 में वोट लिया गया और अब किसानों से किए गए वायदे पूरे नहीं किए जा रहे हैं। कहा कि जिस दिन प्रदेश का किसान सड़कों पर उतर गया तो सरकार के लिए उन्हें संभालना बड़ी चुनौती हो जाएगा। इस मौके पर विकेश बालियान, रोहित राणा, राजकमल, अनुज कुमार, मेजर राणा, नीरज, अमित, अनिल, प्रमोद, कंवर पाल ¨सह, महेंद्र आदि मौजूद रहे।NYOOOZ HINDI

Read more Haridwar News in Hindi here. देशभर की सारी ताज़ा खबरें हिंदी में पढ़ने के
लिए NYOOOZ HINDI को सब्सक्राइब करें |

Related Articles

Leave a Comment