स्वामी ज्ञानस्वरूप सानंद को गिरफ्तार करने पर नैनीताल हाईकोर्ट सख्त

संक्षेप:

  • स्वामी सानंद की गिरफ्तारी पर HC सख्त
  • मांगें पूरी करने के लिए सीएस को दिया 12 घंटे का समय
  • जगह को भी सार्वजनिक करने का आदेश जहां स्वामी को रखा गया है

हरिद्वार: हरिद्वार मातृ सदन के स्वामी ज्ञानस्वरूप सानंद की पुलिस गिरफ्तारी मामले में नैनीताल हाई कोर्ट ने सख्त रुख अपनाया है। हाईकोर्ट ने इस मामले में प्रदेश के मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह को आदेश दिए है कि वह 12 घंटों के भीतर स्वामी से मिलकर उनकी मांगों को पूरा करें। इसके साथ ही उस जगह को भी सार्वजनिक किया जाए जहां स्वामी ज्ञानस्वरूप को रखा गया है।

हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को स्वामी ज्ञानस्वरूप की सुरक्षा के साथ ही उनके स्वास्थ्य का ध्यान रखने का आदेश सुनाया है। वहीं, कोर्ट ने प्रदेश के मुख्य सचिव गृह को आदेश दिए हैं कि वो स्वामी ज्ञानस्वरूप को सम्मान के साथ उनके आश्रम में छोड़ कर आएं।

आपको बता दें कि स्वामी ज्ञानस्वरूप गंगा में खनन और बांध बनाने की नीति के खिलाफ 22 जून से उपवास पर थे।10 जुलाई को एसडीएम हरिद्वार ने अमानवीय ढंग से गिरफ्तार कर उन्हें किसी अज्ञात स्थान पर ले गए। जिसके बाद आश्रम के स्वामी दयानंद ने नैनीताल हाई कोर्ट में याचिका दायर कर प्रशासन से स्वामी ज्ञानस्वरूप की जान को खतरा बताते हुए कहा था कि प्रशासन स्वामी निगमानंद की तरह इनकी हत्या कर देगा।

ये भी पढ़े : GST Council की बैठक में फैसला, सैनिटरी नैपकिन पर खत्म जीएसटी


इस याचिका पर सुनवाई करते हुए कोर्ट की खंडपीठ ने प्रदेश के मुख्य सचिव गृह को 12 घंटे के भीतर स्वामी ज्ञानस्वरूप सानंद की उठाई मांगों को पूरा करने के साथ ही उन्हें ससम्मान आश्रम में छोड़ने का आदेश सुनाया है।

Read more Haridwar News in Hindi here. देशभर की सारी ताज़ा खबरें हिंदी में पढ़ने के
लिए NYOOOZ HINDI को सब्सक्राइब करें |

Related Articles