गोल्ड मेडल लेकर बाबा रामदेव से मिलने पहुंचे सुशील कुमार

संक्षेप:

  • कॉमनवेल्थ में सुशील को मिला तीसरा गोल्ड मेडल
  • हमें सुशील और सुमित पर गर्व है- बाबा राम देव
  • फ्री स्टाइल 74 किलोग्राम में भारत को गोल्ड दिलाया

कॉमनवेल्थ गेम्स 2018 में गोल्ड मेडल जीतकर पहलवान सुशील कुमार और सुमित मलिक मंगलवार को स्वदेश लौटे। दिल्ली पहुंचने के बाद वे योग गुरु बाबा रामदेव से मिले। दोनों से मुलाकात के बाद बाबा रामदेव ने कहा, `हमें सुशील और सुमित पर गर्व है, दोनों ने कॉमनवेल्थ गेम्स 2018 में भारत का सिर ऊंचा किया। उन्होंने कहा, युवाओं से अपील करता हूं कि इनसे प्ररेणा लें। अगर सुशील कुमार को ओलंपिक में भाग लेने से नहीं रोका गया होता तो भारत एक और गोल्ड मेडल जीता होता। सुशील ने पुरुष फ्री स्टाइल 74 किलोग्राम में भारत को गोल्ड दिलाया था. कॉमनवेल्थ खेलों में ये सुशील का तीसरा गोल्ड मेडल है, इससे पहले उन्होंने 2010 दिल्ली और 2014 ग्लास्गो कॉमनवेल्थ में गोल्ड मेडल जीते थे।

सुशील ने स्वदेश वापसी के बाद देश की उम्मीदों और दुआओं के लिए आभार जताया। साथ ही उन्होंने कहा कि इससे हमेशा बेहतर करने की प्रेरणा मिलती रहती है। सुशील ने कहा कि वह रियो ओलंपिक विवाद को अब भुला चुके हैं और आगे उनका ध्यान सिर्फ देश के लिए मेडल जीतने पर केंद्रित है। सुशील ने गोल्ड के लिए खेले गए मुकाबले में साउथ अफ्रीका के जोहानेस बोथा पर एकतरफा जीत दर्ज की। सुशील कुमार ने अपनी यह जीत हिमाचल प्रदेश में बस हादसे में मारे गए बच्चों को समर्पित की है। इस दर्दनाक हादसे में 23 बच्चों की मौत हो गई थी ।

ये भी पढ़े : उत्तराखंड के चंबा में गहरी खाई में गिरी बस, 14 लोगों की मौत


Read more Haridwar News in Hindi here. देशभर की सारी ताज़ा खबरें हिंदी में पढ़ने के
लिए NYOOOZ HINDI को सब्सक्राइब करें |

Related Articles