इंदौर (Indore) की पॉश कॉलोनी साकेत (Saket) में एक अप्रवासी भारतीय (NRI) मनोज वर्गीस के मकान पर उनके ही किराएदार (Tenant) शिवराज ने कब्ज़ा कर लिया था

मनोज ने पुलिस (Police) से शिकायत की लेकिन कोई हल नहीं निकला आखिरकार उन्होंने सीएम कमलनाथ (Cm Kamalnath) को एक ट्वीट कर दिया. जिसके बाद पुलिस हरकत में आई और आनन फानन में दोनों पक्षों में समझौता करा दिया. खास बात ये कि मामले से जुड़े दोनों ही पक्षों के सुर भी बदल गए और दोनों समझौते के लिए राज़ी हो गए. किराएदार ने 15 दिनों में मकान खाली करने की बात लिखित में दे दी है. किराएदार ने मकान पर कब्जा किया पलासिया थाना इलाके के पॉश कॉलोनी साकेत इलाके में रहने वाले मनोज वर्गीस कुछ समय पहले व्यापार के लिए विदेश रहने चले गए थे, और अपना मकान किराये से उठा दिया था. किराए से रहने वाले शिवराज ने इकरार कर मकान किराये से लिया और तय समय के बाद खाली भी कर दिया. लेकिन फिर अचानक मकान पर कब्ज़ा कर लिया. मनोज के अनुसार किरायेदार मकान खाली नहीं कर रहा था जिसकी शिकायत पुलिस अधिकारियों को की गई लेकिन जब कोई निष्कर्ष नहीं निकला तो मनोज ने अपनी पीड़ा बयान करते हुए ट्वीट कर दिया. @MadhyaPradeshCM Respected CM we are NRI since 1994. We have a house in Saket nagar Indore. While we were outside India one of our old tenant Shivrajsinh.He has contacts in Police and authorities and we are being deprived of our property. Please help. My mobile no. Is 9977227788 — MANOJ VARGHESE (@mnojvarghese) August 23, 2019 सीएम हाउस ने लिया ट्वीट का संज्ञान, हरकत में आई पुलिस सीएम हाउस ने संज्ञान लेते हुए मामले में पुलिस अधिकारियो को जांच के दिए आदेश दे दिए. थोड़ी ही देर में एक-एक करके पुलिस के तमाम वरिष्ठ अधिकारी  पलासिया थाने पहुंच गये, और दोनों ही पक्षों को समझाने में जुट गए. कई घंटों तक थाने में दोनों पक्ष ने आमने सामने बात की, आखिरकार पुलिस ने दोनों पक्षों में समझौता करवा दिया. कब्जाधारी शिवराज ने 15 दिनों में मकान खाली करने की बात लिखित में एक खाली कागज पर दे दी. मकान मालिक मनोज वर्गीस भी इस पर राज़ी हो गए. ऐसे एक ट्वीट ने सारा मामला सुलझा दिया. ये भी पढ़ें - जम्मू-कश्मीर को नया बनाने की तैयारी, 14 महीने के भीतर होगा परिसीमन नारायणपुर के अबूझमाड़ में मुठभेड़ में 5 नक्सली ढेर, 2 जवान भी हुए घायल।

If You Like This Story, Support NYOOOZ

NYOOOZ SUPPORTER

NYOOOZ FRIEND

Your support to NYOOOZ will help us to continue create and publish news for and from smaller cities, which also need equal voice as much as citizens living in bigger cities have through mainstream media organizations.

डिसक्लेमर :ऊपर व्यक्त विचार इंडिपेंडेंट NEWS कंट्रीब्यूटर के अपने हैं,
अगर आप का इस से कोई भी मतभेद हो तो निचे दिए गए कमेंट बॉक्स में लिखे।