लखीमपुर खीरी की घटना से झांसी में भी उबाल, विरोध में सड़कों पर उतरे विपक्षी नेता

संक्षेप:

  • समाजवादी पार्टी ने सरकार के विरोध में जमकर किया प्रदर्शन।
  • कहा- किसानों की हत्या कर उनकी आवाज दबा रही है सरकार।
  • पुलिस ने 100 से अधिक सपाइयों को हिरासत में भी लिया।

झांसी- लखीमपुर खीरी में कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों को कार से रौंदे जाने की घटना से सोमवार को झांसी में उबाल रहा। समाजवादी पार्टी ने सरकार के विरोध में जमकर प्रदर्शन किया। इस दौरान पुलिस ने एक सैकड़ा से अधिक सपाइयों को हिरासत में भी लिया। बाद में सभी को छोड़ दिया गया। वहीं, कांग्रेस ने भी घटना के विरोध में प्रदर्शन किया। युवक कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने पुलिस को चकमा देते हुए प्रदेश सरकार का पुतला फूंका। इसके अलावा प्रगतिशील समाजवादी पार्टी, आम आदमी पार्टी, भीम आर्मी समेत अन्य संगठनों ने भी किसानों के समर्थन में प्रदर्शन किया। इस दौरान महानगर के चौराहों व मुख्य मार्गों पर जगह-जगह पुलिस तैनात नजर आई। सारे घटनाक्रम पर अफसर खुद नजर जमाए रहे। शासन को भी रिपोर्ट भेजी गई।

किसानों की हत्या कर उनकी आवाज दबा रही है सरकार: सपा
झांसी। लखीमपुर खीरी की घटना के विरोध में सोमवार को समाजवादी पार्टी ने जोरदार प्रदर्शन किया। इस दौरान एक सैकड़ा से अधिक सपाइयों को पुलिस ने हिरासत में लिया, जिन्हें बाद में छोड़ दिया गया।

सरकार के खिलाफ प्रदर्शन के लिए सपाई सोमवार को सुबह पूर्व सांसद डॉ. चंद्रपाल सिंह यादव के नेतृत्व में इलाइट चौराहे पर इकट्ठा हुए। यहां उन्होंने सड़क पर बैठकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। इसी दरम्यान वहां भारी संख्या में पुलिस पहुंच गई। यहां से पुलिस की गाड़ियों में बैठाकर सपाइयों को पुलिस लाइन आया गया। यहां भी सपाइयों ने सरकार की नीतियों को जमकर कोसा। पूर्व सांसद ने कहा कि सरकार किसानों की हत्या कर उनकी आवाज दबा रही है।
इस मौके पर पूर्व विधायक दीपनारायण सिंह यादव व रश्मी आर्या, महानगर अध्यक्ष तनवीर आलम खान समेत अस्फान सिद्दीकी, चंद्रप्रकाश मिश्रा, शकील खान, विजय झांसिया, प्रतिपाल सिंह, दीपाली रायकवार, अजय सूद, मीरा रायकवार, अमित खटीक, अमित कुशवाहा, शाहनवाज खान, हीरेंद्र यादव, विकास सिंह रिंटू, राजा खटीक आदि मौजूद रहे।
वहीं, कलक्ट्रेट में सपाइयों ने जिलाध्यक्ष महेश कश्यप के नेतृत्व में जोरदार नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया। यहां से सपाइयों को पुलिस ने गाड़ियों में भरकर पुलिस लाइन में भेज दिया। इस मौके पर पूर्व एमएलसी श्यामसुंदर सिंह यादव, सलमान पारीछा, प्रदीप कुशवाहा, सत्येंद्र पुरी गोस्वामी, वीरेंद्र प्रताप सिंह, मोहर राठौर, प्रियंक श्रीवास्तव, जगमोहन राजपूत, प्रिंस चौधरी आदि मौजूद रहे।

ये भी पढ़े : बड़ी खबर: सीएम धामी ने चारधाम देवस्थानम बोर्ड भंग करने का किया एलान, त्रिवेंद्र सरकार के समय आया था अस्तित्व में


कांग्रेसियों ने मौन रहकर जताया विरोध
झांसी। शहर कांग्रेस कमेटी के तत्वावधान में गांधी उद्यान में मौन व्रत धारण कर विरोध प्रदर्शन किया गया। इस मौके पर पूर्व मंत्री प्रदीप जैन, डॉ. सुधांशु त्रिपाठी, राहुल रिछारिया, नावेद खान, मनीराम कुशवाहा, इम्तियाज हुसैन, राजेंद्र शर्मा, सुरेंद्र सक्सेना, वैभव बट्टा, नीता अग्रवाल, प्रभा पाल, सरला सिंह भदौरिया, इंदिरा रायकवार, अफजाल हुसैन, अनवर अली, दुलीचंद कुशवाहा आदि मौजूद रहे। इस दौरान महिला कांग्रेस की नीता अग्रवाल, मीना आर्या, फरीदा मंसूरी, पार्वती, प्रेमलता, गीता वर्मा आदि मौजूद रहीं।
प्रगतिशील सपा ने इलाइट पर दिया धरना
झांसी। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी ने इलाइट चौराहे पर धरना प्रदर्शन कर एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। पार्टी के युवजन सभा के प्रदेश अध्यक्ष विजय यादव ने गृह राज्यमंत्री को बर्खास्त करने व उनके पुत्र को गिरफ्तार करने की मांग की। प्रदेश महासचिव स्वदेश यादव ने मृतकों के परिजनों को एक करोड़ मुआवजा देनेे की बात उठाई। इस मौके पर जिलाध्यक्ष डा. वीरेंद्र सिंह यादव, सौरभ शर्मा, पुष्पेंद्र यादव, उत्कर्ष यादव मौजूद रहे।
युवा कांग्रेसियों ने पुलिस को चकमा देकर फूंका पुतला
झांसी। लखीमपुर खीरी की घटना के विरोध में प्रदर्शन कर रहे युवक कांग्रेसी प्रदेश सरकार का पुतला एक ऑटो में लेकर इलाइट चौराहे पर पहुंचे। यहां पहले से तैनात पुलिस ने कर्मियों ने उन्हें घेर लिया। पुतला छीनने की कोशिश कर रही पुलिस से युवा कांग्रेसियों की जमकर धक्कामुकी हुई। पुलिस को चकमा देकर युवा नेता यहां से निकल लिए। पुलिस ने उनका पीछा भी किया, परंतु वे हाथ नहीं आए। बाद में सिंधी तिराहे पर पहुंचकर नारेबाजी करते हुए उन्होंने सरकार का पुतला फूंका। इस मौके पर गौरव जैन, प्रतीक दुबे, अंशु बुधौलिया, कार्तिक पटैरिया, युवराज यादव, वैभव बट्टा, सचिन श्रीवास, रोहन, बादशाह कुरैशी मौजूद रहे।
लखीमपुर में हुआ नरसंहार, कार्रवाई करे सरकार
झांसी। भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं ने कलक्ट्रेट में प्रदर्शन करते हुए कहा कि लखीमपुर खीरी में किसानों के साथ नरसंहार हुआ है। सरकार आरोपियों के खिलाफ एनएसए के तहत कार्रवाई करे। इस दौरान उन्होंने राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन डीएम को सौंपा। इस मौके पर मदनलाल अहिरवार, ध्यानचंद्र बाल्मीकि, मौनी शाक्या, सनी गौतम मौजूद रहे।
मृतक किसानों को मिले न्याय
झांसी। भारतीय किसान यूनियन के प्रतिनिधिमंडल ने तहसील अध्यक्ष अविनाश भार्गव के नेतृत्व में पीएम को संबोधित ज्ञापन एसडीएम को दिया, जिसके जरिये लखीमपुर खीरी की घटना के आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग करते हुए न्याय की गुहार लगाई।

If You Like This Story, Support NYOOOZ

NYOOOZ SUPPORTER

NYOOOZ FRIEND

Your support to NYOOOZ will help us to continue create and publish news for and from smaller cities, which also need equal voice as much as citizens living in bigger cities have through mainstream media organizations.

Read more Jhansi की अन्य ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें और अन्य राज्यों या अपने शहरों की सभी ख़बरें हिन्दी में पढ़ने के लिए NYOOOZ Hindi को सब्सक्राइब करें।

Related Articles