TikTok पर 40.39 करोड़ रुपये का जुर्माना, लाखों यूजर्स के Video होंगे डिलीट

संक्षेप:

  • अमेरिका के फेडरल ट्रेड कमीशन ने Tik Tok पर लगाया जुर्माना
  • Tik Tok पर 13 साल से कम उम्र वाले बच्चों से गैरकानूनी तरीके से जानकारी हासिल करने का आऱोप 
  • Tik Tok को डिलीट करना होगा 13 साल से कम उम्र वाले बच्चों का वीडियो

न्यूयॉर्क: चीन की वीडियो स्ट्रीमिंग ऐप TikTok पर अमेरिका के फेडरल ट्रेड कमीशन (FTC) ने बुधवार को 5.7 मिलियन डॉलर यानी 40.39 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है. TikTok पर आरोप है कि उसने 13 साल से कम उम्र वाले बच्चों से गैरकानूनी तरीके से उनका नाम, ईमेल एड्रेस, फोटो और लोकेशन की जानकारी हासिल की है.

हालांकि, TikTok ने इस पर सफाई देते हुए कहा है कि वह जल्द ही इससे निपटने और सुरक्षा के लिए जरूरी कदम उठाएगी. अमेरिका द्वारा इस पर लगाया गया जुर्माना फेडरल ट्रेड कमीशन (FTC) के अनुसार म्यूजिकली को भी रिलेट करेगा, क्योंकि साल 2017 में म्यूजिकली को बाईटडांस ऐप नाम से लॉन्च किया गया था लेकिन पिछले साल यानी 2018 में इसे TikTok के साथ पार्टनरशिप हो गई थी.

ये भी पढ़े : यहां देखिए, क्यों हल्दी जैसे पीले रंग की साड़ी पहनकर निर्मला सीतारमण ने बजट किया पेश


वहीं फेडरल ट्रेड कमीशन (FTC) ने जानकारी दी है कि TikTok उन सभी बच्चों का वीडियो डिलीट करेगा, जिसकी उम्र 13 साल से कम है. हालांकि, TikTok का कहना है कि हमने सुरक्षा और बच्चों को ध्यान में रखते हुए अमेरिका और यूके में you are in control नाम से एक वीडियो ट्यूटोरियल की शुरुआत की है, जिसमें बताया गया है कि इसे कैसे इस्तेमाल और कंट्रोल करें.

ऐप ने ये भी कहा है कि अगर भारतीय यूजर्स इसे अब डाउनलोड करते हैं तो उन्हें अब एज गेटिंग यूज करने का एक ऑप्शन आएगा, जिसके लिए कंपनी ने 12 से ज्यादा ऐप में स्टोर रेटिंग को इनेबल किया है, जिसकी सबसे ख़ास बात ये है कि इसे पैरेंट्स अपनी मर्जी से तय करेंगे. भारत में इस समय वीडियो शेयरिंग और लाइव स्ट्रीमिंग ऐप्स के यूजर्स की संख्या और कारोबार लगातार बढ़ रहा है. ऐसे में जानकारी मिली है कि इस समय भारत में तकरीबन 5 करोड़ से भी ज्यादा यूजर्स हैं, जिसमें से 40 फीसदी यूजर्स भारतीय ही हैं. बता दें कि गूगल का यह नियम है कि इन ऐप्स का 13 साल से कम उम्र के बच्चे उपयोग न करें.

If You Like This Story, Support NYOOOZ

NYOOOZ SUPPORTER

NYOOOZ FRIEND

Your support to NYOOOZ will help us to continue create and publish news for and from smaller cities, which also need equal voice as much as citizens living in bigger cities have through mainstream media organizations.

Read more Kanpur News In Hindi here. देशभर की सारी ताज़ा खबरें हिंदी में पढ़ने के लिए
NYOOOZ HINDI को सब्सक्राइब करें |

Related Articles