लखनऊ से शुरू हुई नई दिल्ली, गोवा व बैंगलोर के लिए एयर एशिया की फ्लाइट्स, सीएम योगी ने किया उद्घाटन

संक्षेप:

  • लखनऊ से शुरू हुई तीन शहरों के लिए फ्लाइट सर्विस।
  • सीएम ने तीन शहरों के लिए उड़ान सेवाएं का किया उद्घाटन।
  • 5 साल से पहले 15 शहरों तक उड़ान की सेवा थी, आज 30 से ज्यादा।

लखनऊ. लखनऊ से नई दिल्ली, बंगलुरु, गोवा, कोलकाता और मुंबई तक आवागमन अब और आसान हो गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को नई दिल्ली, बंगलुरु और गोवा के लिए एयर एशिया की नई उड़ान सेवा का शुभारंभ किया, जबकि कोलकाता और मुंबई की फ्लाइट अगले माह से शुरू हो जाएगी। सीएम योगी ने बेहतर कनेक्टिविटी को विकास की गति तेज करने का सहज माध्यम बताते हुए यूपी को कनेक्टिविटी के लिहाज से सर्वोत्तम प्रदेश बनाने का संकल्प भी दोहराया। वहीं प्रदेश में हवाई सेवा को बेहतर करने की मुख्यमंत्री योगी की कोशिशों की प्रशंसा करते हुए केंद्रीय नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने नई हवाई सेवाओं के लिए लखनऊ को बधाई दी है।

सीएम ने शुरू की तीन शहरों के लिए उड़ान सेवाएं

शुक्रवार को लखनऊ स्थित चौधरी चरण सिंह हवाईअड्डा, परिसर में आयोजित कार्यक्रम में सीएम ने तीन शहरों के लिए एयर एशिया की उड़ान सेवाओं की शुरुआत की। इस मौके पर उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी द्वारा प्रारंभ की गई `उड़ान` योजना का उत्तर प्रदेश ने अत्यधिक लाभ प्राप्त किया है। प्रधानमंत्री मोदी ने हवाई चप्पल पहनने वाले आम आदमी के हवाई उड़ान का सपना देखा था, उत्तर प्रदेश में बेहतर होती हवाई सेवाएं, इस स्वप्न के साकार होने जैसी हैं। उन्होंने कहा कि 2017 से पहले प्रदेश में मुख्यतः लखनऊ और वाराणसी में ही एयरपोर्ट थे। गोरखपुर और आगरा में आंशिक रूप से क्रियाशील एयरपोर्ट थे। तब चार एयरपोर्ट से मात्र 25 गंतव्यों तक वायुसेवा उपलब्ध थी, आज नौ एयरपोर्ट क्रियाशील हैं।

ये भी पढ़े : Lumpy Virus: उत्तर प्रदेश में 'लंपी' वायरस ने दी दस्तक, वायरस की चपेट में आए गोवंश, सभी जिलों में अलर्ट


पहले केवल 15 शहर, अब 30 से ज्यादा शहरों के हैं उड़ान सेवा

अकेले लखनऊ में पांच साल से पहले जहां 15 शहरों तक उड़ान की सेवा थी, आज 30 से ज्यादा शहरों के लिए फ्लाइट उपलब्ध है। सीएम योगी ने कहा कि विकास की गति को तेज करने में कनेक्टिविटी का बड़ा योगदान है। इस लिहाज से प्रदेश में एक्सप्रेसवे का निर्माण और अधिकाधिक शहरों को हवाई  सेवाओं से जोड़ा जा रहा है। हवाई सेवाओं को बेहतर करने के लिए जरूरी इंफ्रास्ट्रक्चर विकास के लिए प्रदेश सरकार, एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया का सहयोग भी ले रही है। बहुत जल्द अलीगढ़, आज़मगढ़, चित्रकूट, श्रावस्ती और सोनभद्र से हवाई सेवा की शुरूआत हो जाएगी। सीएम ने सकारात्मक सहयोग के लिए केंद्रीय नागर विमानन मंत्री के प्रति आभार भी जताया। कार्यक्रम से वर्चुअली जुड़े केंद्रीय मंत्रु ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि यूपी के अपार पोटेंशियल को बढ़ावा देने के लिए हाल के समय में 63 नए रूट जोड़े गए हैं, जल्द ही इसे बढ़ाकर 108 रूट तक करने की तैयारी है।

कंपनी के लिए ऐतिहासिक दिन: भास्करन

एयर एशिया के सीईओ और एमडी सुनील भास्करन ने केंद्रीय नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, राज्य मंत्री वीके सिंह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के प्रति आभार जताते हुए लखनऊ से सेवा शुरू करने को ऐतिहासिक करार दिया। भास्करन ने बताया कि लखनऊ से एयर एशिया की आठ फ्लाइट उपलब्ध होंगी। आज पांच फ्लाइट शुरू हो गई हैं, जबकि कोलकाता और मुंबई के लिए तीन फ्लाइट सितंबर से शुरू हो जाएगी।

बेहतर एयर कनेक्टिविटी: आम आदमी को लाभ, अर्थव्यवस्था को मजबूती

डबल इंजन की सरकार के प्रयासों से, आज उत्तर प्रदेश देश में आवागमन के सबसे सुगम प्रदेश में बदल रहा है। ईज ऑफ डूइंग बिजनेस और ईज ऑफ लिविंग के लिहाज से बीते पांच वर्षों में शानदार काम करने वाले उत्तर प्रदेश में इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट हमेशा से ही सीएम योगी की प्राथमिकता रही है। सीएम ने कई मौकों पर कहा भी है कि बेहतर सड़कें, एक्सप्रेसवे, बेहतर एयरपोर्ट यह सिर्फ इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट ही नहीं होते बल्कि पूरे क्षेत्र का कायाकल्प कर देते हैं, लोगों का जीवन पूरी तरह से बदल देते हैं। यूपी में बेहतर होती हवाई सेवाओं से एक ओर जहां आम आदमी को आवागमन का शानदार विकल्प मिल रहा है, वहीं प्रदेश के औद्योगिक विकास को रफ्तार भी मिल रही है। कुशीनगर एयरपोर्ट के शुरू होने से जहां देश-दुनिया के बौद्ध मतावलम्बियों को आवागमन में आसानी हुई है, वहीं स्थानीय होटल और पर्यटन सेक्टर को बल मिला है।

आगरा, प्रयागराज, बरेली, हिंडन, गोरखपुर और कानपुर जैसे शहरों से हवाई सेवाओं ने स्थानीय उद्यम को प्रोत्साहन दिया। यही नहीं, योगी सरकार चित्रकूट, सोनभद्र और श्रावस्ती जैसे आकांक्षात्मक जिलों से हवाई सेवा शुरू करने की तैयारी है, जो इन पिछड़े क्षेत्रों के पोटेंशियल को नई उड़ान देने में सहायक होगी। इसी तरह, सीएम योगी के ड्रीम प्रोजेक्ट `नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट` उत्तरी भारत का लॉजिस्टिक्स गेटवे के रूप में पहचान बनाने के लिए तैयार हो रहा है। यह हवाई अड्डा लाखों लोगों को रोजगार भी देगा। यही नहीं, हाल ही में प्रदेश सरकार ने हवाई जहाजों, एयरक्राफ्ट के मरम्मत, रखरखाव और ओवरहालिंग के लिए एमआरओ (मेंटेनेंस, रिपेयर एंड ओवरहॉल) नीति घोषित की है, जिससे सैकड़ों युवाओं को रोजगार मिलेगा। आज देश को विदेशों में इन सेवाओं को प्राप्त करने के लिए हजारों करोड़ रुपये खर्च करने पड़ते हैं। अयोध्या में निर्माणाधीन मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम हवाई अड्डा न केवल उत्तर प्रदेश बल्कि पूरे देश में पर्यटन सेक्टर की तरक्की को नई उड़ान देंने वाला होगा।

If You Like This Story, Support NYOOOZ

NYOOOZ SUPPORTER

NYOOOZ FRIEND

Your support to NYOOOZ will help us to continue create and publish news for and from smaller cities, which also need equal voice as much as citizens living in bigger cities have through mainstream media organizations.

Read more Lucknow की अन्य ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें और अन्य राज्यों या अपने शहरों की सभी ख़बरें हिन्दी में पढ़ने के लिए NYOOOZ Hindi को सब्सक्राइब करें।

Related Articles