आजम खान ने दी सीएम योगी को जींस-शर्ट पहनने की सलाह

संक्षेप:

  • मदरसों में भी ड्रेस कोड लागू करने को लेकर राजनीति शुरू
  • आजम खान ने साधा सीएम योगी पर निशाना
  • बोले- दुःख हो रहा है कि यह फैसला वापस लिया गया

लखनऊ: यूपी की योगी सरकार में राज्यमंत्री मोहसिन रजा के मदरसों में भी ड्रेस कोड लागू करने के बयान से माहौल गरमाने के बाद योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री चौधरी लक्ष्मी नारायण ने कहा कि मदरसों में किसी भी तरह का ड्रेस कोड लाने का कोई प्रस्ताव नहीं है।

इसके बाद पूर्व मंत्री आजम खान ने मुख्यमंत्री योगी पर चुटकी लेते हुए कहा कि हमें दुःख हो रहा है कि यह फैसला वापस लिया गया क्योंकि इसी बहाने एक बार हम अपने योगी जी को भी जीन्स में देख लेते तो अच्छा लगता।

दरअसल सपा नेता आजम खान ने भी राज्यमंत्री मोहसिन रजा के बयान पर पलटवार करते हुए पहले सीएम योगी को जींस-शर्ट पहनने की सलाह दे डाली थी। वहीं अब अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री चौधरी लक्ष्मी नारायण के मदरसों में ड्रेस कोड को लागू न करने के बयान के बाद एक बार फिर सीएम योगी पर निशाना साधा।

ये भी पढ़े : बीएसपी ने मायावती को प्रधानमंत्री उम्मीदवार के तौर पर किया प्रोजेक्ट, पार्टी ने की कार्रवाई


आजम खान ने सीएम योगी पर तंज कसते हुए कहा कि थोड़ा दुःख हो रहा है योगी सरकार ने मदरसे में ड्रेस कोड को फैसला वापस ले लिया। उन्होंने कहा कि हमें लगा बच्चों को जीन्स टॉप पहनने से पहले मुख्यमंत्री योगी इस ड्रेस को पहनेंगे क्योंकि वो प्रदेश के मुखिया हैं। पहले वो पहनेंगे उसके बाद फिर बच्चे पहनेंगे और इसी बहाने एक बार हम अपने सीएम योगी को भी जीन्स में देख लेते तो अच्छा लगता।

वहीं दिल्ली में लेफ्टिनेंट गवर्नर और अरविंद केजरीवाल के बीच विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि दिल्ली में लेफ्टिनेन्ट गवर्नर ने अति कर दी थी। उन्होंने कहा कि एक रिटायर्ड सरकारी मुलाजिम की ये हैसियत नहीं है कि वो किसी राज्य के इलेक्टेड चीफ मिनिस्टर को, कैबिनेट को, जिनको जनता ने वोट देकर चुना हो उसको अपमानित कर सके।

आजम खान ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि दिल्ली सरकार को परेशान करने का इल्जाम पीएम मोदी और उनकी कैबिनेट पर आता है। उन्होंने कहा कि जिस तरह से दिल्ली के मुख्यमंत्री को अपमानित किया गया और इमेज खराब की गई उसके लिए देश के प्रधानमंत्री मोदी को दिल्ली की सरकार और जनता से माफी मांगनी चाहिए।

Read more Lucknow Hindi News here. देशभर की सारी ताज़ा खबरें हिंदी में पढ़ने के लिए NYOOOZ HINDI को सब्सक्राइब करें |

Related Articles