KGMU आग: पीड़ितों से मिलने ट्रॉमा सेंटर पहुंचे सीएम योगी, परिजनों को 2 लाख रुपये की आर्थिक सहायता का ऐलान

संक्षेप:

  • अस्पताल प्रशासन पर उठ रहे हैं सवाल
  • जिस वक्त आग लगी 37 मरीज वेंटिलेटर पर थे
  • सीएम योगी ने दिए जांच के आदेश

लखनऊः लखनऊ के केजीएमसी हॉस्पिटल में शनिवार शाम लगी आग में अब तक 6 मरीजों की मौत हो गई है. सभी मौतें मरीजों को ट्रॉमा सेंटर से दूसरे अस्पताल में ले जाते वक्त हुई. वहीं रविवार सुबह सीएम योगी ने अस्पताल का दौरा किया. सीएम ने तीन दिन में घटना की जांच के आदेश दिए हैं. साथ ही ट्रॉमा सेंटर में आग की घटना में जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों को 2 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने के निर्देश दिए हैं.

अस्पताल प्रशासन पर उठ रहे हैं सवाल

आग दूसरी मंजिल पर लगी थी लेकिन आग का धुआं पूरे अस्पताल में भर गया. धुआं भरने से मरीजों का दम घुटने लगा. आनन फानन में मरीजों को अस्पताल से बाहर निकाला गया. करीब 4 घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू तो पा लिया गया. इस हादसे के बाद अस्पताल प्रशासन पर सवाल उठ रहे हैं.

ये भी पढ़े : आगरा- लखनऊ एक्सप्रेस वे पर कार में लगी आग, लेफ्टिनेंट राहुल यादव की दर्दनाक मौत


जिस वक्त आग लगी 37 मरीज वेंटिलेटर पर थे

अस्पताल में जिस वक्त आग लगी उस वक्त ट्रॉमा सेंटर में करीब 300 मरीज भर्ती थे. इनमें से 37 मरीज वेंटिलेटर पर थे. सभी मरीजों को समय रहते अस्पताल से सुरक्षित निकाल लिया गया. ट्रॉमा सेंटर के मरीजों को आसपास के 8 अस्पतालों में भर्ती कराया गया.

सीएम योगी ने दिए जांच के आदेश

लखनऊ के केजीएमयू में आग लगने की घटना को सीएम योगी आदित्यनाथ ने गंभीरता से लिया. योगी आदित्यनाथ ने आला अफसरों को फौरन मौके पर पहुंचने को कहा और तीन दिन में जांच रिपोर्ट सौंपने का आदेश दिया है.

पहली बार नहीं लगी केजीएमयू में आग

केजीएमयू में आग लगने का यह मामला पहला नहीं है. इससे पहले भी कई बार यहां आग लगने की घटनाएं हो चुकी हैं. लेकिन ताजा हालात बताते हैं कि पुरानी घटनाओं से कोई सबक नहीं लिया गया.

Read more Lucknow Hindi News here. देशभर की सारी ताज़ा खबरें हिंदी में पढ़ने के लिए NYOOOZ HINDI को सब्सक्राइब करें |

Related Articles