Opinion: सिर्फ आपत्तियां जताने से क्या होगा, BJP नरेश अग्रवाल को निकालती क्यों नहीं!

संक्षेप:

  • नरेश अग्रवाल ने जया बच्चन पर की अभद्र टिप्पणी
  • सुषमा स्वराज और स्मृति ईरानी ने ट्वीट कर जताई आपत्ति
  • सिर्फ आपत्तियां जताने से बॉलीवुड की महिलाओं का सम्मान वापस हो जाएगा

- अभिजीत पाठक

नरेश अग्रवाल को सपा ने राज्यसभा नहीं भेजा और वे इतना तिलमिलाएं कि जया बच्चन पर अभद्र टिप्पणी करने से बाज नहीं आए। नरेश अग्रवाल ने भगवा कैंप का दामन थाम लिया। इस बीच कुछ ट्वीट ऐसे आएं हैं, जिसमें बीजेपी की महिला नेताओं ने नरेश अग्रवाल के बयान पर आपत्ति जताई और उनकी टिप्पणी को अनुचित और अस्वीकार्य बताया।

ये भी पढ़े : कल हरिद्वार पहुंचेंगे अमित शाह, प्रणव पंड्या से करेंगे मुलाकात


अब सवाल ये है कि महिलाओं का अपमान करने वाले व्यक्ति को बीजेपी स्वीकार ही क्यों रही है और आपत्तियां दर्ज करने से फिल्मों में काम करने वाली महिलाओं की हैसियत बढ़ जाएगी।

आपको बता दें कि समाजवादी पार्टी को छोड़कर बीजेपी में शामिल होने वाले नरेश अग्रवाल जया बच्चन को लेकर पर अपनी टिप्पणी को लेकर विवादों में घिर गए हैं। अग्रवाल की टिप्पणी पर बीजेपी की महिला नेताओं द्वारा आपत्ति जताए जाने के बाद समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी नरेश अग्रवाल के बयान की निंदा की है और बीजेपी से कड़ी कार्रवाई करने की अपील की है।

अखिलेश यादव ने मंगलवार सुबह ट्वीट किया, `जया बच्चन जी पर की गई अभद्र टिप्पणी के लिए हम भाजपा के नरेश अग्रवाल के बयान की कड़ी निंदा करते हैं। ये फिल्म जगत के साथ ही भारत की हर महिला का भी अपमान है। भाजपा अगर सच में नारी का सम्मान करती है तो तत्काल उनके ख़िलाफ कदम उठाये और महिला आयोग को भी कार्रवाई करनी चाहिए।`

दरअसल, भाजपा में शामिल होने के बाद संवाददाताओं से बातचीत में नरेश अग्रवाल ने कहा, `फिल्मों में काम करने वाली से मेरी हैसियत कर दी गई, उनके नाम पर हमारा टिकट काटा गया। मैंने इसको भी बहुत उचित नहीं समझा। मैं भाजपा में कोई शर्त पर नहीं आया। कोई राज्यसभा टिकट की मांग नहीं है।`

नरेश अग्रवाल की इस टिप्पणी पर सबसे पहले विदेश मंत्री और भाजपा की सीनियर नेता सुषमा स्वराज ने आपत्ति जताई थी। उन्होंने कहा था कि जया बच्चन के बारे में उनकी टिपण्णी अनुचित और अस्वीकार्य है। उन्होंने ट्विटर पर लिखा, `नरेश अग्रवाल भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए हैं। उनका स्वागत है। लेकिन जया बच्चन जी के विषय में उनकी टिप्पणी अनुचित और अस्वीकार्य है।

सुषमा स्वराज के अलावा केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने भी नरेश अग्रवाल के जया बच्चन को लेकर विवादित बयान पर ट्वीट कर आपत्ति जताई है। उन्होंने लिखा, `जब भी महिलाओं के सम्मान को चुनौती दी जाएगी, तब विचारधारा की लड़ाई छोड़ सभी को एकजुट होना चाहिए।` इसके साथ ही उन्होंने संजय निरूपम द्वारा की गई आपत्तिजनक टिप्पणी पर 5 साल से चल रहे मुकदमें का जिक्र करते हुए कहा कि किसी भी महिला को अपमानित करने पर वे सभी विरोध करेंगी।

इसके बाद रूपा गांगुली ने भी ट्वीट कर नरेश अग्रवाल के विवादित बयान की निंदा की है। उन्होंने कहा कि यह स्वीकार्य नहीं है। मैं जया बच्चन जी का सम्मान करती हूं, फिल्म इंडस्ट्री में जया बच्चन के योगदान पर मुझे फक्र है। उन्होंने कहा यह बीजेपी की लीडरशिप नहीं है।

गौरतलब है समाजवादी पार्टी के पास उत्तर प्रदेश में 47 विधायक हैं, जिनमें से सिर्फ एक को ही उच्च सदन में भेजा जा सकता है। पार्टी ने उच्च सदन के लिए जया बच्चन का चुनाव किया है। इस फैसले से नाराज़ नरेश अग्रवाल ने बीजेपी से संपर्क किया, जिसके बाद सूत्रों के मुताबिक, उन्हें देर शाम भगवा कैंप में शामिल होने का निमंत्रण मिला।

Read more Lucknow Hindi News here. देशभर की सारी ताज़ा खबरें हिंदी में पढ़ने के लिए NYOOOZ HINDI को सब्सक्राइब करें |

Related Articles