10 खरब डॉलर की अर्थव्यवस्था की ओर बढ़ रहा है उत्तर प्रदेश, बाहर से आयात होने वाले 95 उत्पाद अब यूपी में ही किए जाएंगे तैयार

संक्षेप:

  • 10 खरब डॉलर की अर्थव्यवस्था की ओर बढ़ रहा है उत्तर प्रदेश।
  • आयात के उत्पादों को प्रदेश में ही तैयार किया जाए- सरकार।
  • केमिकल्स से लेकर आभूषण व कार्ड बोर्ड तक होते है आयात।

लखनऊ. प्रदेश की अर्थव्यवस्था को 10 खरब डॉलर के मुख्यमंत्री योगी के लक्ष्य को पूरा करने के लिए सेक्टरवार रणनीति बनाकर काम करना शुरू कर दिया गया है। इसके तहत प्रदेश में आयात होने वाले 95 उत्पादों को चिह्नित किया गया है। इनका उत्पादन प्रदेश में ही करने की योजना बनाई गई है।

सीएम योगी ने हाल ही में एमएसएमई विभाग को प्रदेश में आयात होने वाले उत्पादों को चिह्नित करने के निर्देश दिए थे। वित्त वर्ष 2021-22 में यूपी के ड्राई पोर्ट (रेल या सड़क परिवहन से बंदरगाह का जुड़ना) से 55 हजार करोड़ से अधिक के 95 उत्पाद आयात हुए हैं।

आयात के उत्पादों को प्रदेश में ही तैयार किया जाए

ये भी पढ़े : नोएडा में सेक्टर तीन स्थित एक फैक्टरी में लगी आग, दमकल की 14 गाड़ियां कर रही आग बुझाने की मशक्कत


इसमें 10 हजार करोड़ से लेकर सौ करोड़ रुपये तक के 48 उत्पादों का आयात किया गया है। इस बाबत एमएसएमई के अपर मुख्य सचिव डॉ. नवनीत सहगल ने बताया कि प्रदेश सरकार की योजना है कि आयात होने वाले इन उत्पादों को यहीं तैयार किया जाए।

इन टॉप-10 उत्पादों का होता है आयात

पहले नंबर पर इलेक्ट्रिकल एंड इलेक्ट्रॉनिक्स के 10,200 करोड़ के ट्रांसफार्मर, जेनरेटर, मिक्सर ग्राइंडर, सेमी कंडक्टर चिप, प्रोसेसर और मेमोरीज आदि उत्पाद हैं। दूसरे नंबर पर 6592 करोड़ के मछली का तेल, कैस्टर ऑयल, सोयाबीन का तेल व अन्य खाद्य तेल हैं।

तीसरे नंबर पर 6315 करोड़ के न्यूक्लियर रिएक्टर, बॉयलर्स और बड़े प्लांट में उपयोग होने वाली मशीनरी। चौथे नंबर पर 4906 करोड़ के प्लास्टिक पैलेट्स। पांचवें नंबर पर 2817 करोड़ के एल्यूमीनियम, आयरन, स्टील और कॉपर के उत्पाद।

केमिकल्स से लेकर आभूषण व कार्ड बोर्ड तक होते है आयात

छठे नंबर पर 1592 करोड़ के ऑर्गेनिक केमिकल्स, सातवें नंबर पर 1590 करोड़ के सर्जिकल उपकरण, आठवें पर 1515 करोड़ के सोने-चांदी के आभूषण व रत्न, नौवें पर 1207 करोड़ के पेपर बोर्ड, कार्ड बोर्ड, केमिकल के बने हार्ड बोर्ड और दसवें नंबर पर 1106 करोड़ रुपये के निकिल व निकिल स्क्रैप मेटल्स का आयात होता है।

If You Like This Story, Support NYOOOZ

NYOOOZ SUPPORTER

NYOOOZ FRIEND

Your support to NYOOOZ will help us to continue create and publish news for and from smaller cities, which also need equal voice as much as citizens living in bigger cities have through mainstream media organizations.

Read more Lucknow की अन्य ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें और अन्य राज्यों या अपने शहरों की सभी ख़बरें हिन्दी में पढ़ने के लिए NYOOOZ Hindi को सब्सक्राइब करें।

Related Articles