यूपी में प्लॉस्टिक बैन के बाद अब बनेगा माटी कला बोर्ड, योगी कैबिनेट ने 15 प्रस्तावों को दी मंजूरी

लखनऊ. प्लास्टिक पर बैन लगाने के बाद अब यूपी सरकार प्रदेश में माटी कला बोर्ड का गठन करेगी।

मंगलवार को कैबिनेट की बैठक में इसे मंजूरी दी गई।

यह बोर्ड मिट्टी की उपलब्धता, माटीकला/ शिल्पकला से संबंधित उद्योगों के विकास, कारीगरों के व्यवसाय में वृद्धि व मार्केटिंग के संबंध में नीतियां बनाएगा।

राज्य सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ सिंह ने बताया प्रदेश में 15 जुलाई से प्लास्टिक बैन लागू हो जाएगा।

ऐसे में माटी कला बोर्ड के गठन की जरूरत पड़ी है।

उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई बैठक में कुल 15 प्रस्तावों को मंजूरी दी गई है।

इन प्रमुख प्रस्तावों को कैबिनेट ने दी मंजूरी-

1- उत्तर प्रदेश कृषि उत्पादन मंडी अधिनियम- 1964 में संशोधन को मंजूरी दी गई है।

2- मोटरवाहनों के परमिट शुल्क में वृद्धि के लिए 'उत्तर प्रदेश मोटरयान नियमावल- 1998' में संशोधन को मंजूरी मिल गई है। 3- उत्तर प्रदेश के 788 राजकीय (बालक/बालिका) इंटर कॉलेजों में इंटर कक्षाओं के छात्र-छात्राओं को कंप्यूटर का प्रशिक्षण दिया जाएगा।

4- गोरखपुर में विकास खंड पीपीगंज के गठन को निरस्त कर, विकास खंड भरोहिया के सृजन को यूपी कैबिनेट की स्वीकृति दी गई है। 5- लोकतंत्र सेनानियों व उनके आश्रितों को प्रतिमाह दी जाने वाली सम्मान राशि में वृद्धि को कैबिनेट ने मंजूरी दे दी है।

डिसक्लेमर :ऊपर व्यक्त विचार इंडिपेंडेंट NEWS कंट्रीब्यूटर के अपने हैं,
अगर आप का इस से कोई भी मतभेद हो तो निचे दिए गए कमेंट बॉक्स में लिखे।

Read more Lucknow Hindi News here. देशभर की सारी ताज़ा खबरें हिंदी में पढ़ने के लिए NYOOOZ HINDI को सब्सक्राइब करें |

Related Articles