मेरठ: ईव्ज चौराहे पर रोडवेज बस ने युवक को रौंदा, लोगों ने किया हंगामा

  • Aditi
  • Friday | 19th May, 2017
संक्षेप:

  • लोगों ने रोडवेज बस और इनोवा कार पर कि जमकर तोड़फोड़
  • मौके पर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा
  • उपद्रव करने के आरोप में तीन व्यक्तियों को किया गिरफ्तार

 

 मेरठ- कोतवाली थाना क्षेत्र में शुक्रवार की दोपहर पंप से पेट्रोल डलवाकर निकले युवक की इनोवा से टक्कर के बाद पीछे से आ रही रोडवेज की बस ने रौंद डाला। हादसे से गुस्साए लोगों ने बस और इनोवा में जमकर तोड़फोड़ करते हुए आग लगाने का प्रयास किया और सड़क पर जाम लगा दिया। घटना की जानकारी के बाद मौके पर पहुंची कई थानों की फोर्स और एसपी सिटी सहित प्रशासनिक अधिकारियों के भीड़ को काबू करने में पसीने छूट गए। इस दौरान भीड़ ने सड़क चलते लोगों से मारपीट की और कवरेज कर रहे कई मीडियाकर्मियों से हाथापाई करते हुए उनके कैमरे तोड़ डाले। बाद में पुलिस ने सख्ती दिखाते हुए शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजते हुए समझा-बुझा कर लोगों को शांत किया। उपद्रव करने के आरोप में तीन व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया है।

 

गुदड़ी बाजार निवासी ओसामा (20) कपड़े की दुकान पर नौकरी करता था। शुक्रवार की दोपहर उसने हापुड़ रोड स्थित ईव्ज पेट्रोल पंप से अपनी एक्टिवा में पेट्रोल डलवाया और बेगमपुल की ओर जाने लगा। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार ओसामा पेट्रोल पंप से बाहर निकलकर सड़क पार कर रहा था एकाएक आगे चल रही इनोवा के चालक ने दरवाजा खोल दिया। दरवाजे से टकराकर ओसामा एक्टिवा सहित नीचे गिर गया, इसी बीच पीछे से तेज गति से आ रही जेएनयूआरएम की बस ने उसे रौंद दिया। हादसा होते ही मौके पर सैकड़ों लोगों की भीड़ लग गई। गुस्साए लोगों ने इनोवा और बस में तोड़फोड़ शुरू कर दी, जिस पर इनोवा सवार युवक और बस की सवारियों में भगदड़ मच गई और सभी लोग मौके से भाग खड़े हुए।

ये भी पढ़े : सामने से आए, हालचाल पूछा और गले से चेन झपट कर हुए फरार


गुस्साई भीड़ ने बस और इनोवा में जमकर तोड़फोड़ करते हुए आग लगाने का प्रयास किया। लेकिन आग लगाने में कामयाब नहीं हो सके। जिसके बाद पब्लिक ने हापुड़ रोड पर जाम लगा दिया। इस दौरान निकलने का प्रयास करते वाहन चालकों के साथ बदसलूकी और मारपीट करते हुए भीड़ ने कई वाहनों में भी तोड़फोड़ कर डाली। मौके पर पहुंचे कई मीडियाकर्मियों के साथ हाथापाई करते हुए उनके कैमरे तोड़ डाले।

घटना की जानकारी मिलने पर सिविल लाइन और कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची, लेकिन भीड़ के सामने बेबस नजर आई। हालात बिगड़ते देख लालकुर्ती और नौचंदी सहित शहर के कई थानों की फोर्स को मौके पर तलब कर लिया गया। एसपी सिटी आलोक प्रियदर्शी, सीओ कोतवाली रणविजय सिंह, एडीएम सिटी मुकेश कुमार, सिटी मजिस्ट्रेट अवधेश कुमार सहित कई आलाधिकारी मौके पर पहुंचे। उपद्रवी भीड़ अधिकारियों के सामने भी मनमानी करती रही, अधिकारी बार-बार चेतावनी देते रहे, लेकिन चेतावनी का असर न होते देख हल्का बल प्रयोग करते हुए पुलिस ने हंगामा कर रहे लोगों को खदेड़ दिया।

इस दौरान तीन लोगों को हिरासत में लेते हुए मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। एसपी सिटी ने बताया कि दुर्घटना करने वाली बस संख्या यूपी-15-एटी-5838 को कब्जे में लेते हुए चालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। वहीं उपद्रव में शामिल रहे करीब डेढ़ सौ अज्ञात व कुछ को नामजद करते हुए उनके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई है। उपद्रव में शामिल किसी आरोपी को बख्शा नहीं जाएगा। उधर, हादसे की जानकारी मिलने के बाद मृतक के परिजनों में कोहराम मचा है।

Your support to NYOOOZ will help us to continue create and publish news for and from smaller cities, which also need equal voice as much as citizens living in bigger cities have through mainstream media organizations.

अन्य मेरठ समाचार पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें | देशभर की सारी ताज़ा खबरें हिंदी में पढ़ने के
लिए NYOOOZ HINDI को सब्सक्राइब करें|

Related Articles