Lok Sabha Election 2019: सहारनपुर में बोले मोदी-वो बोटी-बोटी की धमकी देने वाले, हम बेटी-बेटी को सम्मान देने वाले

संक्षेप:

  • इमरान मसूद के बहाने पीएम मोदी ने राहुल पर निशाना साधा
  • पीएम मोदी ने कहा- वो बोटी-बोटी करने वाले साहब भी हैं और कांग्रेस के शहजादे के बड़े चहेते हैं
  • कैराना में पलायन की वो घटनाएं आप भूल सकते हैं क्या- पीएम मोदी

सहारनपुर:सहारनपुर में भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विपक्षी दलों पर जमकर हमले किए. इमरान मसूद के बहाने पीएम मोदी ने राहुल पर निशाना साधते कहा कि यहां तो बोटी-बोटी करने वाले साहब भी हैं और कांग्रेस के शहजादे के बड़े चहेते हैं. याद रखिएगा, वो बोटी-बोटी की धमकी देने वाले लोग हैं और हम बेटी-बेटी को सम्मान देने वाले हैं.

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि मोदी से पार पाने के लिए कुछ लोग राष्ट्र को दांव पर लगा रहे हैं. ये देश को धर्म-जाति, सम्प्रदाय और स्वार्थ के समीकरण में उलझाने लगे हैं. पीएम ने जनता से कहा कि आपको इनकी साजिशों को नाकाम करना है. उन्होंने कहा कि सहारनपुर के बाजारों में वो आगजनी और व्यापारियों के साथ वो बदसलूकी यूपी भुला सकता है क्या? कैराना में पलायन की वो घटनाएं आप भूल सकते हैं क्या?

पीएम ने कहा कि देश में होने वाला बम धमाका, जाति देखकर जान नहीं लेता. सरहद पर अपनी जान की बाजी लगाने वाला जवान सिर्फ हिंदुस्तानी होता है. पीएम ने कहा कि चौधरी अजीत सिंह ने तो इस स्वार्थ में सारी हदें ही पार कर दी हैं. उन्होंने कहा कि तब अपने राजनैतिक स्वार्थ के लिए वो चुप रहे और आज भी अपने स्वार्थ के लिए वो इस क्षेत्र में आप पर हुए अत्याचारों को भूल गए हैं. उनकी ज़ुबान दंगों के संरक्षकों के विरुद्ध नहीं उठती. हां इस चौकीदार को गाली देने के लिए वो गली-गली घूम रहे हैं. छोटे चौधरी तो उनसे भी आगे बढ़ गए हैं.

ये भी पढ़े : कन्नौज की रैली में डिंपल यादव ने मायावती के छुए पैर


पीएम मोदी ने कहा कि चौधरी साहब को ये याद दिलाना आपका दायित्व है, कि उनका भी ठेका किसी ने आपको नहीं दिया है. हमेशा राष्ट्रहित के लिए, किसान हित के लिए समर्पित रहे चौधरी चरण सिंह जी को आज इन बयानों से कितना दुःख हो रहा होगा, आप समझ सकते हैं. पीएम ने कहा कि महामिलावटी लोगों के आचरण से पता लगता है कि सत्ता में आने के बाद वो कैसे काम करेंगे? पिछड़ों के हितों की रक्षा कभी नहीं की जाएगी. याद रखिए कांग्रेस हमेशा पिछड़ों की विरोधी रही है.

 

Your support to NYOOOZ will help us to continue create and publish news for and from smaller cities, which also need equal voice as much as citizens living in bigger cities have through mainstream media organizations.

अन्य मेरठ समाचार पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें | देशभर की सारी ताज़ा खबरें हिंदी में पढ़ने के
लिए NYOOOZ HINDI को सब्सक्राइब करें|

Related Articles