बड़ा ख़ुलासा: आम्रपाली ग्रुप ने धोनी की पत्नी साक्षी की कंपनी में लगाया फ्लैट खरीदारों का पैसा

संक्षेप:

  • आम्रपाली ग्रुप ने धोनी की पत्नी साक्षी की कंपनी में लगाया फ्लैट खरीदारों का पैसा- रिपोर्ट.
  • रीती स्पोर्ट्स में महेंद्र सिंह धोनी की बड़ी हिस्सेदारी है, जबकि साक्षी आम्रपाली माही डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड की निदेशक हैं.
  • फॉरेंसिक ऑडिटर्स पवन कुमार अग्रवाल और रवींद्र भाटिया ने सुप्रीम कोर्ट में सनसनीखेज खुलासा किया है.

नोएडा: महेंद्र सिंह धोनी एक बार फिर सुर्खियों में हैं, लेकिन इस बार अपनी पत्नी साक्षी के कारण. एक ओर जहां अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से उनके संन्यास की अफवाहें चरम पर हैं, वहीं दूसरी ओर भारतीय टीम के इस पूर्व कप्तान की पत्नी साक्षी आम्रपाली से जुड़े मामले को लेकर खबरों में आ गई हैं. खासकर ऐसे समय में जब मंगलवार 23 जुलाई को ही सुप्रीम कोर्ट ने एनबीसीसी को आम्रपाली के सभी लंबित पड़े प्रोजेक्ट पूरे करने के लिए कहा है.

साक्षी आम्रपाली माही डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड की निदेशक हैं

मगर अब इस मामले में बड़ा ही सनसनीखेज खुलासा हुआ है. दरअसल, आउटलुक एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, फॉरेंसिक ऑडिटर्स पवन कुमार अग्रवाल और रवींद्र भाटिया ने सुप्रीम कोर्ट में सनसनीखेज खुलासा करते हुए कहा है कि आम्रपाली ने आम्रपाली माही डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड और रीती स्पोर्ट्स मैनेजेमेंट प्राइवेट लिमिटेड के साथ फर्जी अनुबंध किया है. धोनी को माही नाम से भी जाना जाता है और रीती स्पोर्ट्स में उनकी बड़ी हिस्सेदारी भी है, जबकि साक्षी आम्रपाली माही डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड की निदेशक हैं.

ये भी पढ़े : अबकी बार प्याज 150 के पार, थोक मंडी में 113 रुपये प्रति किलो पहुंची कीमत


यहां पढिए Outlook Express का ख़ुलासा- Amrapali Diverted Homebuyers Money To MS Dhoni`s Wife Sakshi`s Company, Auditors Tell Supreme Court

रीती स्पोर्ट्स मैनेजमेंट में अवैध तरीके से इंवेस्टर्स का पैसा किया गया डायवर्ट

धोनी 2016 तक आम्रपाली के ब्रांड एंबेसडर भी थे, हालांकि उन्हें हजारों फ्लैट खरीदारों की नाराजगी और दबाव में आम्रपाली से नाता तोड़ना पड़ा. मंगलवार को जस्टिस अरुण मिश्रा और जस्टिस यूयू ललित के सामने पेश फॉरेंसिक ऑडिट रिपोर्ट के अनुसार, हमें लगता है कि फ्लैट खरीदारों का पैसा अवैध और गलत तरीके से रीती स्पोर्ट्स प्राइवेट लिमिटेड में डायवर्ट किया गया है. कानून के तहत इस रकम को उनसे वापस लिया जाना चाहिए.

रीती स्पोर्टस मैनेजमेंट के डायरेक्टर हैं धोनी

शीर्ष अदालत ने कहा कि रिकॉर्ड के अनुसार, साक्षी धोनी को यह रकम नकद के रूप में दी गई. ऑडिटर ने साथ ही यह भी कहा कि हमें मौखिक रूप से बताया गया कि ये कंपनी रांची में एक प्रोजेक्ट से भी जुड़ी हुई है. इसके लिए दोनों पक्षों के बीच MOU भी साइन हुआ, हालांकि हमें इसकी कॉपी मुहैया नहीं कराई गई. रिपोर्ट के अनुसार, रीती स्पोर्ट्स ने आम्रपाली समूह से 2009 से लेकर 2015 के बीच 42.22 करोड़ रुपये प्राप्त किए. इनमें से आम्रपाली सफायर डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड ने 6.52 करोड़ रुपये दिए थे. मगर ये साफ नहीं है कि रीती स्पोर्ट्स को किसलिए इतनी बड़ी रकम दी गई.

If You Like This Story, Support NYOOOZ

NYOOOZ SUPPORTER

NYOOOZ FRIEND

Your support to NYOOOZ will help us to continue create and publish news for and from smaller cities, which also need equal voice as much as citizens living in bigger cities have through mainstream media organizations.

Read more Noida News In Hindi here. देशभर की सारी ताज़ा खबरें हिंदी में पढ़ने के लिए
NYOOOZ HINDI को सब्सक्राइब करें |

Related Articles