दीवालिया होगी Videocon, कंपनी पर 90,000 करोड़ का कर्ज

संक्षेप:

  • लोन में डिफॉल्ट करने पर पिछले साल एसबीआई ने शुरू करवाई थी दिवालिया प्रक्रिया
  • वीडियोकॉन ग्रुप की कंपनी वीआईएल पर एसबीआई के सबसे ज्यादा 11175 करोड़ रु बाकी
  • दूसरी कंपनी वीटीएल पर भी एसबीआई के सबसे ज्यादा 4605 करोड़ बकाया

नई दिल्ली: वीडियोकॉन ग्रुप पर बैंकों और दूसरे कर्जदाताओं के 90,000 करोड़ रुपए बकाया हैं. भारतीय बैंकिंग के इतिहास में यह कॉरपोरेट बैंकरप्सी (दिवालिया) का सबसे बड़ा मामला है. वीडियोकॉन समूह ने सरकारी और निजी बैंकों के भारी भरकम 90,000 करोड़ रुपये के कर्ज को स्वीकार किया है.

ग्रुप की 2 कंपनियों पर बैंकों के 86125.68 करोड़ रुपए बकाया

वीडियोकॉन समूह की 2 प्रमुख कंपनियों वीडियोकॉन इंडस्ट्रीज लिमिटेड (वीआईएल) और वीडियोकॉन टेलीकम्युनिकेशन लिमिटेड (वीटीएल) पर एसबीआई समेत अन्य बैंकों का 59,451.87 करोड़ रुपए और 26,673.81 करोड़ रुपए का कर्ज है. इसके अलावा 731 ऑपरेशनल क्रेडिटर्स (सप्लायर्स) की बकाया राशि अलग है. वीआईएल पर ऑपरेशनल क्रेडिटर्स के 3111 करोड़ 79 लाख 71 हजार 29 रुपए बाकी हैं. जबकि वीटीएल पर 1266 करोड़ 99 लाख 78 हजार 507 रुपए बाकी हैं. वीडियोकॉन द्वारा लोन चुकाने में डिफॉल्ट करने पर पिछले साल एसबीआई ने नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल में दिवालिया प्रक्रिया शुरू करवाई थी. इन्सॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी कोड (आईबीसी) के नियमों के मुताबिक कंपनी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर सस्पेंड कर दिए गए. वीआईएल के 54 कर्जदाताओं में 34 बैंक शामिल हैं. इनमें से एसबीआई के सबसे ज्यादा 11,175.25 करोड़ रुपए बकाया हैं. वीटीएल के 34 कर्जदाताओं में भी एसबीआई के सबसे ज्यादा 4,605.15 करोड़ रुपए बकाया हैं.

ये भी पढ़े : Top 20 में शामिल उत्तराखंड के इस होनहार का स्टार्टअप, दिल के मरीजों के लिए बनाई ये खास डिवाइस


वीडियोकोन कंपनी के प्रोमोटर वेणुगोपाल धूत के खिलाफ एफआईआऱ

वीआईएल का दूसरा बड़ा कर्जदाता बैंक आईडीबीआई है. उसके 9,561.67 करोड़ रुपए बाकी हैं. वीटीएल का दूसरा बड़ा बकायादार सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया है. उसका 3,073.16 करोड़ रुपए का दावा है. आईसीआईसीआई बैंक के वीआईएल पर 3,318.08 करोड़ और वीटीएल पर 1,439 करोड़ रुपए बकाया हैं. वीडियोकॉन को लोन मामले में सीबीआई ने इस साल जनवरी में आईसीआईसीआई बैंक की पूर्व एमडी और सीईओ चंदा कोचर, उनके पति दीपक कोचर, वीडियोकॉन ग्रुप के प्रमोटर वेणुगोपाल धूत और अन्य लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी. चंदा कोचर पर भेदभाव के आरोप लगे हैं.

Your support to NYOOOZ will help us to continue create and publish news for and from smaller cities, which also need equal voice as much as citizens living in bigger cities have through mainstream media organizations.

Read more Noida News In Hindi here. देशभर की सारी ताज़ा खबरें हिंदी में पढ़ने के लिए
NYOOOZ HINDI को सब्सक्राइब करें |

Related Articles