महागुन में CCTV से हुई 60 घरेलू सहायिकाओं की पहचान, पुलिस पर उठे सवाल

  • महागुन में CCTV से हुई 60 घरेलू सहायिकाओं की पहचान, पुलिस पर उठे सवाल



    नोएडा । महागुन मॉडर्न सोसायटी की मेंटेनेंस कंपनी सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस को तोड़फोड़ में शामिल 60 घरेलू सहायिकाओं के नाम सौंपने की तैयारी में है। साथ ही मेंटेनेंस कंपनी ने निवासियों से अनुरोध किया है कि वह सूची को ऑफिस में आकर देख सकते हैं।

    सबूत के आधार पर अन्य लोगों के नाम भी सूची में शामिल करा सकते हैं। वहीं पिछले पांच दिनों से मुख्य आरोपी की गिरफ्तारी न होने से निवासियों में रोष है। उनके मुताबिक पुलिस के पास सारे सबूत होने के बाद भी मुख्य आरोपी अभी भी खुलेआम घूम रहे हैं। इससे पुलिस की कार्यशैली सवाल के घेरे में है।

    रविवार को क्लब में सोसायटी वासियों की मेंटेनेंस करने वाली कंपनी जेएलएल (जोन्स लैग लासेल) के अधिकारी अनिल तिवारी के साथ बैठक हुई। इसके बाद उन्होंने केंद्रीय मंत्री डॉ. महेश शर्मा, पूर्व विधायक विमला बाथम और सीओ द्वितीय अवनीश कुमार से मुख्य आरोपियों की गिरफ्तारी, अवैध दुकानों, अतिक्रमण को हटाने और पीड़ित परिवार के लिए सुरक्षा की मांग की।

    केंद्रीय मंत्री ने कहा कि पुलिस को गिरफ्तारी के लिए सख्त निर्देश दिए गए हैं। जल्द कार्रवाई न होने पर पुलिस पर कार्रवाई की जाएगी। इससे पहले जेएलएल के अधिकारी ने बताया कि उनके द्वारा 60 घरेलू सहायिकाओं के नामों की सूची तैयार कर ली गई है, जिसे पुलिस को सौंपा जाएगा।

    मेंटेनेंस विभाग बनाएगा 500 टोकन, उस पर ही मिलेगी एंट्री

    बैठक में मेंटेनेंस विभाग ने बताया कि 500 टोकन बनाए जाएंगे। इन टोकन पर घरेलू सहायिकाओं की पूरी जानकारी होगी। इन टोकन के नंबर से ही उनकी पहचान होगी, जिससे उन्हें ट्रेस करने में आसानी होगी। साथ कहा कि यदि कोई निवासी किसी घरेलू सहायिका को अपने घर रात में रोकते हैं तो उसकी जानकारी देनी होगी। 

    यह भी पढ़ें: दिल्लीः जन्मदिन से ठीक दो दिन पहले छात्र की रहस्यमय हालात में मौत

    यह भी पढ़ें: नवविवाहिता से अप्राकृतिक यौन संबंध बनाता था पति, वजह जानकर उड़ जाएंगे होश

    न्यूज़ सोर्स: http://www.jagran.com/uttar-pradesh/noida-ncr-60-domestic-helpers-identified-from-cctv-in-mahagun-society-16383035.html