नोएडाः उत्तराखंड के रिटायर्ड IPS ने बेटे की मौत पर उठाए सवाल

  • संक्षेप:

    • डीआईजी लक्ष्मी सिंह के इशारे पर सही तरीके से जांच नहीं कर रही है- रिटायर्ड आईपीएस
    • इस घटना के संबंध में सेक्टर-49 पुलिस स्टेशन में शिकायत देकर उचित जांच की मांग की है
    • रिटायर्ड डीआईजी का आरोप है कि घटनास्थल से ऐविडेंस भी मिटा दिए गए हैं

    नोएडाः उत्तराखंड के रिटायर्ड आईपीएस (डीआईजी) वी.पी सिंह के बेटे रजत सिंह की नोएडा में चार दिन पहले संदिग्ध हालात में मौत हो गई थी। रजत की मौत पर उनके पिता रिटायर्ड डीआईजी वी.पी.सिंह ने सवाल उठाए हैं। उनका आरोप है कि रजत की मौत के मामले में नोएडा पुलिस डीआईजी लक्ष्मी सिंह के इशारे पर सही तरीके से जांच नहीं कर रही है। उनका कहना है कि एसएसपी लव कुमार को जब फोन किया तो उन्होंने फोन तक नहीं उठाया। उन्होंने इस घटना के संबंध में सेक्टर-49 पुलिस स्टेशन में शिकायत देकर उचित जांच की मांग की है।

    रिटायर्ड डीआईजी का आरोप है कि घटनास्थल से ऐविडेंस भी मिटा दिए गए हैं। बेटे का मोबाइल और लैपटॉप भी कमरे में ही है। जब तक कमरे का ताला नही खुलेगा तब तक कैसे पता चलेगा की कमरे के अन्दर रजत का क्या क्या सामान रखा है।  हालांकि पुलिस ने ऐसे किसी साक्ष्य के गायब होने या सबूत नष्ट करने से इनकार किया है। लक्ष्मी सिंह अभी गौतम बुद्ध नगर में एसटीएफ की डीआईजी हैं। आपको बता दें लक्ष्मी सिंह की बहन से रजत की शादी हुई थी। गौरतलब है की चार दिन पहले सेक्टर-47 के ए ब्लॉक में रहने वाले रजत सिंह एडवोकेट की जहरीला पदार्थ खाने से मौत हो गई थी। रजत सिंह के पिता वी.पी. सिंह उत्तरांखड के देहरादून में आईपीएस रहे हैं। रजत सिंह की शादी दो साल पहले यूपी में तैनात डीआईजी लक्ष्मी सिंह की बहन से हुई थी। रजत के पिता और मां का आरोप है कि शादी के बाद से ही रजत को प्रताड़ित किया जा रहा था। उसकी पत्नी आए दिन विवाद करती थी।

     आरोप है कि रजत को प्रताड़ित करने में डीआईजी लक्ष्मी सिंह भी शामिल रही हैं। घटना वाले दिन उसने मां को इसकी जानकारी दी थी। रजत के परिजनों ने डीआईजी और उनकी बहन पर रजत की हत्या की साजिश में शामिल होने का आरोप लगाया है।

    वहीं एसपी सिटी रजत सिंह का कहना है की परिजनों ने घर खुलवाकर घटनास्थल देखने की बात कही थी। उन्हें घर का ताला खुलवाकर पुलिस के साथ भेजा गया था। इसके अलावा फरेसिंक टीम भी गई थी। परिजनों ने अभी तक किसी के खिलाफ कोई लिखित शिकायत नहीं की है। अगर शिकायत मिलती है तो जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी। साथ ही एसएसपी लव कुमार के मुताबिक रजत सिंह ने जहरीला पदार्थ खाकर सुसाइड किया है। मामले की जांच की जा रही है। परिजनों की ओर से पुलिसिया कार्रवाई में लापरवाही के आरोप निराधार हैं। पुलिस मामले की निष्पक्ष रूप से जांच कर रही है।

    न्यूज़ सोर्स: NYOOOZ HINDI