Corona Virus का मामला बिहार में भी! चीन से लौटी युवती PMCH में भर्ती

संक्षेप:

  • मुंबई और जयपुर के बाद अब बिहार के छपरा से करॉना वायरस के संदिग्ध का पता चला है.
  • उसमें करॉना वायरस जैसे लक्षण मिले हैं.
  • इस महिला मरीज को पटना मेडिकल कॉलेज ऐंड हॉस्पिटल (PMCH) भेजा गया है.

पटना: चीन में फैला करॉना वायरस अब धीरे-धीरे दुनिया के कई दूसरे देशों में पैर पसारना शुरू कर चुका है। थाइलैंड, नेपाल, अमेरिका, फ्रांस के बाद अब भारत में भी इस बीमारी के संदिग्ध मरीज मिलने की खबर है। मुंबई और जयपुर के बाद अब बिहार के छपरा से करॉना वायरस के संदिग्ध का पता चला है। उसमें करॉना वायरस जैसे लक्षण मिले हैं। इस महिला मरीज को पटना मेडिकल कॉलेज ऐंड हॉस्पिटल (PMCH) भेजा गया है। हालांकि, राहत की बात ये है कि देश में अभी तक कोई भी पॉजिटिव मामला नहीं आया है।

कुछ दिन पहले ही चीन से लौटी है महिला

संदिग्ध महिला मरीज कुछ दिन पहले ही चीन से लौटी है। महिला के करॉना वायरस जैसे लक्षण के बाद आनन-फानन में उसे छपरा में दिखाया गया, जहां से उसे PMCH रेफर कर दिया गया। PMCH के सुपरिटेंडेंट विमल करक ने बताया कि हाल में चीन से लौटी एक लड़की को करॉना वायरस के मिले-जुले लक्षण पाए जाने पर छपरा के एक अस्पताल के ICU में भर्ती कराया गया। अभी उसे PMCH लाया जा रहा है। उन्होंने कहा, `PMCH आने के बाद लड़की के खून का नमूना जांच के लिए पुणे भेजा जाएगा और उसके बाद रिपोर्ट के अनुसार उसका इलाज शुरू होगा। हम इस तरह के संदिग्ध मामलों के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।`

ये भी पढ़े : मिसाल: विकास के लिए CM योगी ने अपने ही गोरखनाथ मंदिर की 200 दुकानों पर चलवाया बुल्डोजर


जयपुर में मिला संदिग्ध मरीज!

इससे पहले जयपुर में चीन से एमबीबीएस की पढ़ाई कर लौटे एक डॉक्टर को करॉना वायरस से संक्रमित होने की आशंका में जयपुर के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जयपुर के सवाई मान सिंह अस्पताल में भर्ती कराए गए इस डॉक्टर को एक अलग वॉर्ड में रखा गया है। राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा ने अस्पताल प्रशासन को डॉक्टर के परिवार के पूरे सदस्यों की जांच करने का आदेश दिया है। बता दें कि अबतक इस खतरनाक वायरस से चीन में 80 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। चीन में फैले जानलेवा करॉना वायरस से अब और ज्यादा खतरनाक रूप लेता जा रहा है और इसका फैलना लगातार जारी है।

मुंबई में हुई संदिग्धों की जांच

पिछले दिनों मुंबई में दो संदिग्ध मरीजों को बीएमसी द्वारा संचालित चिंचपोकली के कस्तूरबा अस्पताल में अलग वॉर्ड में रखा गया था। दोनों मरीज हाल ही में चीन से लौटे थे।

बेंगलुरु में यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग

उधर, बेंगलुरु इंटरनैशनल एयरपोर्ट पर रविवार सुबह 8 बजे से बाहर से आए यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग जारी है। एयरपोर्ट हेल्थ ऑर्गनाइजेशन ने बताया, `पिछले 14 दिनों से चीन के वुहान से लौटे यात्रियों में से किसी की भी रिपोर्ट पॉजिटिव नहीं आई है। अब तक 392 यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग हो चुकी है।`

करॉना का अब तक एक भी केस पॉजिटिव नहीं

देश के 7 हवाईअड्डों पर करॉना वायरस पर एहतियातन 137 उड़ानों से आए 29,000 से अधिक यात्रियों की जांच की गई है लेकिन अब तक एक भी केस पॉजिटिव नहीं पाया गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने ट्वीट कर बताया, ‘137 उड़ानों के 29,707 यात्रियों की जांच की गई। रविवार को 22 उड़ानों के 4,359 यात्रियों की जांच की गई। करॉना वायरस संक्रमण का अभी तक कोई मामला सामने नहीं आया।’

चीन में लोग घरों में कैद

चीन के स्वास्थ्य विशेषज्ञ इसे बेहद खतरनाक श्रेणी में रख रहे हैं। सबसे चिंताजनक बात यह है कि इस बीमारी में लक्षण नहीं दिखते हैं और यह लोगों को अपनी जकड़ में ले ले रहा है। चीन में खौफ का आलम यह है कि वुहान में लोगों को उनके घरों में `कैद` कर दिया गया है और इस शहर से किसी के निकलने की अनुमति तक नहीं है।

If You Like This Story, Support NYOOOZ

NYOOOZ SUPPORTER

NYOOOZ FRIEND

Your support to NYOOOZ will help us to continue create and publish news for and from smaller cities, which also need equal voice as much as citizens living in bigger cities have through mainstream media organizations.

Related Articles