सुपर-30 के संस्थापक आनंद कुमार पर कोर्ट ने लगाया 50 हजार का जुर्माना

संक्षेप:

  • सुपर-30 (Super Thirty) के संस्थापक आनंद कुमार पर 50 हजार रुपए का जुर्माना लगा है.
  • उनपर यह जुर्माना गुवाहाटी उच्च न्यायालय (Guwahati High Court) ने लगाया है.
  • मामला अदालत में पेश न होने से जुड़ा है.

पटना: सुपर-30 (Super Thirty) के संस्थापक आनंद कुमार पर 50 हजार रुपए का जुर्माना लगा है. उनपर यह जुर्माना गुवाहाटी उच्च न्यायालय (Guwahati High Court) ने लगाया है. मामला अदालत में पेश न होने से जुड़ा है. दरअसल, इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (आईआईटी, गुवाहाटी) के चार छात्रों ने कोर्ट में एक याचिका दायर की है. इस जनहित याचिका में आनंद पर ठगी करने का आरोप लगाया गया है. कोर्ट ने आनंद को इसी मामले में पेश होने के लिए बुलाया था. आनंद कुमार (Anand kumar) को गुवाहाटी हाईकोर्ट (Guwahati court) ने 26 नवम्बर को पेश होने का आदेश जारी किया था.

`मैं डरने वाला नहीं`

इस पूरे मामले पर आनंद कुमार ने कहा था, `मेरे खिलाफ साजिश (Conspiracy) की जा रही है और हारे हुए लोग हैं जो मुझे बदनाम करने के लिए ऐसा करवा रहे हैं. जिन चार छात्रों ने मुझ पर आरोप लगाया है न तो वे मेरे छात्र हैं और न तो मुझसे पढ़े हैं. वे लो न तो मुझसे मिले हैं और न ही मैंने उनसे एक रुपया लिया है.` आनंद कुमार ने दावे के साथ कहा था कि उन्‍हें न्यायालय पर विश्वास है और उन्‍हें न्याय मिलेगा. उन्‍होंने कहा था कि वह 26 नवम्बर को गुवाहाटी हाईकोर्ट में पेश होंगे. उन्‍होंने कहा था, `कोर्ट में पेश होने से पहले 24 नवम्बर को कैम्ब्रिज में अपना लेक्चर दूंगा. मैं डरनेवाला नहीं और पीछे हटनेवाला भी नहीं. सुपर 30 का डंका पूरी दुनिया में बजाकर दिखाऊंगा.`

ये भी पढ़े : सीएम योगी के जन्मदिन के मौके पर गोरखपुर में बीजेपी नेताओं ने किया वृक्षारोपण


चार छात्रों ने दायर की है याचिका

बता दें कि गुवाहाटी उच्च न्यायालय ने सुपर-30 शैक्षिक कार्यक्रम के संस्थापक आनंद कुमार को आईआईटी गुवाहाटी के चार छात्रों द्वारा दायर जनहित याचिका के संबंध में 26 नवंबर को उसके समक्ष पेश होने के मंगलवार को निर्देश दिए थे. मुख्य न्यायाधीश अजय लांबा और न्यायमूर्ति एएम बुजारबारुआ की खंडपीठ ने कहा कि अगर कुमार पेश नहीं हुए तो उनके खिलाफ जमानती वारंट जारी किया जाएगा. छात्रों के वकील अमित गोयल ने कहा कि आनंद कुमार ने उनके द्वारा लगाए आरोपों का जवाब नहीं दिया.

आनंद कुमार पर झूठे नतीजे दिखाने का आरोप

दरअसल, याचिका में कहा गया है कि अपने आप को `गणितज्ञ और खुद को गरीब आईआईटी अभ्यर्थियों का `मसीहा` बताने वाले आनंद कुमार चालाकी से और झूठे नतीजे देकर निर्दोष आईआईटी अभ्यर्थियों और उनके अभिभावकों की सादगी का दुरुपयोग कर रहे हैं.

आनंद कुमार पर ये भी आरोप

याचिका में दावा किया गया है कि आनंद अपने कोचिंग संस्थान रामानुजम स्कूल ऑफ मैथमैटिक्स में 3300 रुपये की भारी रकम वसूलकर छात्रों को दाखिला देते हैं. यह भी आरोप लगाया गया है कि वर्ष 2008 के बाद से वे तथाकथित सुपर 30 की कोई कक्षा नहीं चला रहे हैं. गौरतलब है कि आनंद की `सुपर 30 पहल के तहत हर साल आर्थिक रूप से वंचित वर्गों के 30 मेधावी छात्रों का चयन किया जाता है और उन्हें जेईई के लिए प्रशिक्षित किया जाता है.

If You Like This Story, Support NYOOOZ

NYOOOZ SUPPORTER

NYOOOZ FRIEND

Your support to NYOOOZ will help us to continue create and publish news for and from smaller cities, which also need equal voice as much as citizens living in bigger cities have through mainstream media organizations.

Related Articles