वाराणसी के इस बैंक में जमा होती है ॐ नमः शिवाय की पूंजी

संक्षेप:

  • इस बैंके में किसी भी प्रकार की कोई करेंसी
  • विदेश से आते है यहां श्रद्धालू खाता खुलवाने
  • 134 करोड़ बार ॐ नमः शिवाय का जाप लिखा

वाराणसी- बैंक का नाम आते ही लोगों के मन में सीधे पैसे के लेन देन की बातें आती है लेकिन शिव की नगरी काशी एक ऐसा बैंक है जहां नोट नहीं बल्कि भगवान शिव के में बीज मन्त्र ॐ नमः शिवाय की जमा पूंजी भक्त जमा करते है।

शहर के विश्वनाथ मंदिर परिक्षेत्र के विश्वनाथ गली में स्थित अनोखे बैंक में आज कल भक्तों की भीड़ लगी है। इस बैंक में न कोई करेंसी की ज़रुरत है और नहीं किसी आधार कार्ड की। इस बैंक में आने के लिए बस मन की शांति की आवश्यकता है। इस बैंक में भारत ही नहीं अपितु विदेश से आने वाले श्रद्धालू भी अपना खाता खुलवाकर ॐ नमः शिवाय का मन्त्र अपने खाते में लिखकर चढाते हैं।

धर्म की नगरी काशी में बाबा भोलेनाथ का दर्शन विभिन्न रूपों में मिलता है। काशी में भक्त भोले भंडारी से आशीर्वाद के लिए आते हैं और अपनी दुविधा उनसे साझा करते हैं। काशी आने वाले शिव भक्तों ने यहां अपने खाते भी खुलवा रखे हैं पर इस खाते में ना कोई करेंसी जमा होती है और नाही किसी भी प्रकार का कोई धन ब्याज के रूप में मिलता है। बल्कि भक्त यहां अपने मन की शान्ति के लिए अपना खाता खुलवातें हैं और इस खाते की बुक में ॐ नमः शिवाय का जाप लिखते हैं। इस समय इस बैंक में 134 करोड़ बार ॐ नमः शिवाय का जाप लिखा जा चुका है और लोगों ने अपने खाते खुलवाएं हैं।

इस सम्बन्ध में बात करते हुए आचार्य राजेन्द्र त्रिवेदी ने बताया कि साल 2002 में हम सब लोगों ने देवाधिदेव बबबं विश्वनाथ के मंदिर में हम 6 लोगों ने संकल्प लिया की हम बाबा के चरणों में हम अपनी श्रद्धा समर्पित कर हमने नमः शिवाय बैंक की स्थापना की। आज हमारे देश की जनसख्या 135 करोड़ है और 134 करोड़ श्रद्धा भाव लेखन के साथ देश ही नहीं विदेश के लोगों द्वारा लिख कर आस्था और श्रद्धा समर्पित की जाती है।

व्यापारिक बैंको से जुदा यह बैंक आस्था और श्रधा को ॐ नमः शिवाय के रूप में लिख के जमा किया जाता है। इस बैंके में किसी भी प्रकार की कोई करेंसी जमा नहीं होती। इस बैंके में लोगों को जो ब्याज भी मिलता है वह भी अनूठा है। इस बैंक में ॐ नमः शिवाय का मन्त्र लिख के जमा करने से लोगों को मन की शान्ति और मुक्ति के द्वार खुल जाते हैं।

अन्य वाराणसी ताजा समाचार पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें | देशभर की सारी ताज़ा खबरें
हिंदी में पढ़ने के लिए NYOOOZ HINDI को सब्सक्राइब करें |

Related Articles

Leave a Comment