जिले के 694 ग्राम पंचायतों में प्रधान पद के आरक्षण की सूची जारी हो चुकी है

वाराणसी, गांवों में आरक्षण सूची को लेकर बहस शुरू हो गई है।

कोई खुश तो कोई अपने तर्कों से खारिज करने में जुटा है।

वहीं अधिकारियों का कहना है कि सब कुछ शासनादेश के तहत हुआ है।

शिकायत करने का मौका दिया गया है।

ब्लाकवार आरक्षण सूची सेवापुरी - 87 गांव तेंदुई (एसटी महिला), बरनी (एसटी ), रामेश्वर, मनियारीपुर, बरेमा, सत्तनपुर व छतेरीमानापुर (एससी महिला), दौलतिया, अर्जुनपुर, शिखड़ी, बाराडीह, इसरवार, भिटकुरी, डौमेला, खालिसपुर, बरौरा व घोसिला गांव (एससी), खेमापुर, देईपुर, चकलोला, उपरवार, मिल्कीपुर, बनौली, सोनबरसा व लेढुवाई गांव (ओबीसी महिला), रघुनाथपुर, टोडरपुर, कपसेठी, दिलावलपुर, जोगापुर, शुंभुपुर, पचवार, सकलपुर, हरिहरपुर,  राखीनेवादा, नेवादा, भीषमपुर, सुईलरा, रैसीपुर, ओदरहा व  बनकट गांव (ओबीसी), रामडीह, जगापट्टïी, सिरिहिरा, कंशरायपुर, गजेपुर, लालपुर, गोराई, खरगरामपुर, नहवानीपुर, पुरंदरपुर, गुड़ीया, चित्रसेनपुर, गैरहा, गजापुर व अमनी (महिला) शेष 31 गांव सामान्य।

बड़ागांव-80 गांव भरथरा (एसटी महिला), रतनपुर (एसटी), सिसवां अनेई, निन्दनपुर, गजापुर, बड़ागांव व लखमीपुर (एससी महिला), सियरहां, मझगंवाकला, अकोढ़ा, पुरारघुनाथपुर, चंगवार, सुगनहां, कुवार, कठिरांव, अनेई व फुलवरियां (एससी), बरजी, पचरासी, बेलवां, सिसवां बरनी, हरिनाथपुर, बलुवा, फततेपुर व  शेरवानिपुर (ओबीसी महिला), इसिपुर, बरहिकला, करमपुर, दबेथुवां, ढोरा, देवचंदपुर, हमीरापुर, विरावकोट, हसनपुर, रायपुर, बराई, कुसमुरा, बौलिया व छेड़ापुर गांव (ओबीसी), मकसूदन पट्टïी, बरही नेवादा, सोनपुरवां, बलरामपुर, तिलवार, विश्वनाथपुर, मधुमखियां, ताड़ी, बचौरा, नथईपुर, कैथौली, मलहथ व साईपुर गांव (महिला) अन्य शेष 28 गांव सामान्य।

काशी विद्यापीठ - 66 गांव ककरहिया (एसटी महिला) , मड़ाव  (एसटी) , बनकट, परमानंदपुर व सुरही   (एससी महिला), भ_ी, बिसुनपुर, चंदापुर, सरहरी, डाफी व छितौनीकोट  (एससी), बंदेपुर, सुल्तानपुर, लखमीपुर, टिकरी, घाटमपुर व धन्नीपुर  (पिछड़ा वर्ग महिला), नरऊर, खुलासपुर, तारापुर, अनंतपुर, केराकतपुर, नैपुरा कला, भुल्लनपुर, लठिया, चांदपुर , गजाधरपुर, अखरी व लखनपुर (पिछड़ा वर्ग), छितौनी, भिट्टी, बिसोखर, जफराबाद, कोरौता, करसड़ा, बच्छाव, कुरहुआ, मंगलपुर, नरोत्तमपुर कला, उचगांव व बेटावर (महिला), शेष 25 गांव सामान्य।

If You Like This Story, Support NYOOOZ

NYOOOZ SUPPORTER

NYOOOZ FRIEND

Your support to NYOOOZ will help us to continue create and publish news for and from smaller cities, which also need equal voice as much as citizens living in bigger cities have through mainstream media organizations.

डिसक्लेमर :ऊपर व्यक्त विचार इंडिपेंडेंट NEWS कंट्रीब्यूटर के अपने हैं,
अगर आप का इस से कोई भी मतभेद हो तो निचे दिए गए कमेंट बॉक्स में लिखे।

अन्य वाराणसीकी अन्य ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें और अन्य राज्यों या अपने शहरों की सभी ख़बरें हिन्दी में पढ़ने के लिए NYOOOZ Hindi को सब्सक्राइब करें।

Related Articles